Arthgyani
होम > न्यूज > अब लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी पर मिलेगा दोगुना लाभ  

अब लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी पर मिलेगा दोगुना लाभ  

इरडा के नए नियमों से बीमा से जुड़े पेंशन प्लान भी ज्यादा फायदेमंद हो जाएंगे

अगर आप जीवन बीमा पॉलिसी खरीदने की योजना हैं बना रहें तो थोड़े दिन और इंतज़ार कर लें क्योंकि 1 दिसम्बर 2019 से लाइफ इंश्योरेंस के पॉलिसियों पर मिलने वाला है दोगुना लाभ| 1 दिसंबर 2019 या उसके बाद बीमा पॉलिसी लेने पर परिपक्वता अवधि के समय मौजूदा पॉलिसी के मुकाबले दोगुना राशि निकाली जा सकेंगे| साथ ही अब सरेंडर वैल्यू कम समय में लेने और एन्यूटी किसी भी कंपनी से खरीदने सहित कई तरह के विकल्प मिलेंगे| इरडा (Insurance Regulatory and Development Authority) ने बीमा कंपनियों को इसके लिए दिशा-निर्देश दे दिए हैं| साथ ही इरडा ने सभी बीमा कंपनियों से अपने उत्पादों को 30 नवंबर 2019 तक नए नियमों के तहत तत्काल प्रभाव से परिवर्तित करने के लिए कहा है|

वर्तमान पालिसी पर नहीं पड़ेगा कोई प्रभाव

हिन्दुस्तान में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक 30 नवंबर तक बेची गई बीमा पॉलिसी पर कोई भी असर नहीं पड़ेगा| पुरानी बीमा पॉलिसी का प्रीमियम और फायदे पहले की तरह ही जारी रहेंगे| इरडा ने कहा है कि जिन उत्पादों को नए नियमों के तहत परिवर्तित नहीं किया जा सकता है उन्हें 30 नवंबर 2019 तक वापस लिया जा सकता है| बीमा कंपनियां जिन उत्पादों को वापस ले रही हैं उनको तीन माह के अंदर यानी 29 फरवरी 2020 तक परिवर्तित किया जा सकता है, और इसके बाद नए उत्पाद के तौर पर इन्हे फिर से पेश किया जा सकेगा|

अब प्रीमियम को घटा-बढ़ा सकते हैं

सामान्यतया बीमा पॉलिसी लंबी अवधि के लिए होती है और एजेंटो द्वारा कई बार गलत जानकारी देकर बेच दी जाती है| जिसके बारे में बाद में ज्ञात होने पर बहुत से बीमाधारक उसे बीच में खत्म कर देते हैं| नए प्रावधान में इसके लिए भी उपाय किए गए हैं| बीच में छुट गई पॉलिसी की बहुत बड़ी संख्या को देखते हुए इरडा ने कहा है कि अब बीमाधारक ऐसी पॉलिसी का बीमा प्रीमियम पांच साल बाद 50 फीसदी कम करा सकते हैं| इससे उन बीमाधारकों को भी फायदा होगा जो किसी वित्तीय परेशानी से पॉलिसी खत्म कर देते हैं| साथ ही अब सरेंडर वैल्यू भी ज्यादा मिलेगी| पॉलिसी दो साल में खत्म करने पर भी अब सरेंडर वैल्यू मिलेगी जो अभी तक तीन साल है| इसके अलावा पॉलिसी बीच में खत्म होने के पांच साल बाद भी उसे रेन्यू करा सकेंगे जो अभी तक दो साल है|

अब होगी राशि निकालने की सुविधा

बीमा से जुड़े पेंशन प्लान में वर्तमान समय में परिपक्वता अवधि के पहले राशि निकालने की छूट नहीं है| इरडा के नए दिशा-निर्देश के मुताबिक अब बीमा से जुड़े पेंशन प्लान में 25 फीसदी राशि शिक्षा या गंभीर बीमारी पर खर्च के लिए निकाल सकेंगे| पेंशन प्लान लेने के पांच साल बाद उपभोक्ता इसकी सुविधा ले सकेंगे| इससे पेंशन से जुड़े प्लान उपभोक्ताओं के लिए ज्यादा आकषर्क हो जाएंगे।

ULIP में होंगे दो विकल्प

Unit Linked Insurance Plan (यूलिप) में मौजूदा नियमों के मुताबिक न्यूनतम तय रिटर्न देना अनिवार्य है। शेयरों से जुड़े होने के बावजूद कंपनी को यदि नुकसान होता है तो वह बीमाधारक को तय रिटर्न देना होता है। वहीं फायदा होने की स्थिति में पॉलिसी की शर्तों के तहत भुगतान होता है। नए नियमों के तहत इरडा ने बदलाव करते हुए यूलिप में तय रिटर्न और बीना तय रिटर्न दोनों विकल्प देने को कहा है। इसमें चुनाव का विकल्प बीमाधारक को होगा। साथ ही यूलिप में सम एश्योर्ड सालाना प्रीमियम का सात गुना होगा जो पहले 10 गुना था। इससे यूलिप में रिटर्न बढ़ेगा और इसके उपभोक्ताओं का लाभ होगा

किसी से खरीद सकेंगे एन्यूटी (Annuity)

इरडा के नए नियमों से बीमा से जुड़े पेंशन प्लान ज्यादा फायदेमंद हो जाएंगे। परिपक्वता अवधि पर 60 फीसदी राशि निकाल सकेंगे जो अभी 33 फीसदी है। इसके अलावा बची राशि की एन्यूटी किसी दूसरी कंपनी से भी खरीद सकेंगे जबकि वर्तमान में उसी कंपनी से खरीदना अनिवार्य है। हालांकि, इरडा की नई पहल से बीमा प्रीमियम 15 फीसदी तक महंगे हो सकते हैं, मगर लाभों को देखते हुए इतनी कम प्रतिशत की प्रीमियम वृद्धि ज्यादा मायने नहीं रखती|

इरडा द्वारा लाइफ इंश्योरेंस सेक्टर में ये संसोधन करना इस सेक्टर लिए नवउर्जा का संचार करने वाला साबित होगा| क्योंकि बहुत ही बड़ी संख्या में लोग लाइफ इंश्योरेंस के विकल्प को छोड़ कर टर्म प्लान्स की तरफ आकर्षित हो रहे हैं| इरडा का यह कदम स्वागत योग्य है|

विदित हो की इरडा ने वाहन बीमा को भी सरल बनाते हुए कारों पर प्रारंभिक 3 साल तक 100% बीमा कवर करने की घोषणा की है| साथ ही दोपहिया वाहनों के बीमा कवर को भी बढ़ाया गया है|