Arthgyani
होम > न्यूज > ई कामर्स कंपनी

अलीबाबा ने ‘सिंगल्स डे बिक्री’ में कमाये 38.38 अरब डालर

तोड़ा अपना ही पुराना रिकार्ड

कहानियों के किरदारों सी लगने वाली अलीबाबा कंपनी असल में दुनिया की ई कामर्स कम्पनियों की सिरमौर है|अमेरिका और चीन के बीच बढ़ते व्यापार तनाव और अर्थव्यवस्था में सुस्ती की चिंताओं के बीच वैश्विक बाजार को राहत दी है ई- कॉमर्स कंपनी अलीबाबा ने|अलीबाबा की ‘सिंगल्स डे बिक्री’ में 38.38 अरब डालर की रिकार्ड बिक्री दर्ज की गई है|अलीबाबा समूह के विभिन्न बिक्री प्लेटफार्म पर मात्र 29.45 सेकंड में 10 अरब डालर की बिक्री दर्ज की गई| इस वैश्विक बिक्री त्योहार ने 16 घंटे 31 मिनट में ही पिछले साल के बिक्री रिकार्ड को तोड़ दिया| सिंगल्स डे बिक्री के इस कार्यक्रम में 24 घंटे की समाप्ति के बाद कुल 268.4 अरब आरएमबी (चीनी मुद्रा) यानी 38.379 अरब डालर की रिकार्ड बिक्री दर्ज की गयी|

बता दें अमेरिका और चीन के बीच जारी व्यापारिक गतिरोध का प्रभाव पूरे विश्व पर पड़ा है| अलीबाबा की इस वैश्विक बिक्री पर पूरी दुनिया की निगाहें टिकीं हुई थी|पीटीआई के अनुसार   अलीबाबा के टीमॉल पलेटफार्म और ताओबाओ  के अध्यक्ष फैन जियांग ने कहा, “हमने नई बिक्री और ग्राहकों की संख्या के लिहाज से अच्छी वृद्धि दर्ज की है”| अलीबाबा का टीमॉल प्लेटफार्म चीनी और अंतरराष्ट्रीय स्तर के ब्रांड और खुदरा विक्रेताओं के लिये चीन के कंपनी से ग्राहकों (बीटूसी) को बिक्री करने वाला सबसे बड़ा मार्किटप्लेस है|जबकि ताओबाओ चीन की प्रमुख आनलाइन बिक्री वेबसाइट है| इसका मालिकाना हक अलीबाबा के पास है|अलीबाबा ने बताया कि साल दर साल आधार पर इस बिक्री में 25.7 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई जबकि इसमें डिलीवरी आर्डर की संख्या 1.292 अरब पर पहुंच गयी है|

क्या है अलीबाबा कंपनी?

विश्व की सर्वप्रमुख ई कामर्स कम्पनी है अलीबाबा| अमेज़न और ईबे की बिक्री को मिला दें तो भी अलीबाबा इन पर भारी पड़ता है|अलीबाबा के मालिक जैक मा जिन्होंने हाल ही में कंपनी के चेयरमैन का पद छोड़ दिया था|  डेलियल झांग वर्तमान में अलीबाबा ग्रुप के चेयरमैन हैं| जैक मा ने अपने 17 दोस्तों के साथ अलीबाबा की शुरुआत करीब पंद्रह साल पहले की थी|आज ये इंटरनेट कंपनी ज़बरदस्त फ़ायदे में है और दुनिया के ई-कॉमर्स बाज़ार की अगुआ है|जैक मा की प्रगति चीन के मध्यम वर्ग की प्रगति से जोड़कर देखी जा सकता है जो पिछले 15 साल में तेज़ी से बदला है| आज चीन दुनिया का सबसे बड़ा ऑनलाइन बाज़ार है जहां साठ करोड़ इंटरनेट उपभोक्ता हैं| इनमें से आधे ऑनलाइन पर शॉपिंग करते हैं| जैक मा अपनी शिक्षक की नौकरी छोड़कर इस व्यवसाय में आए थे|

जानीये भारत में अलीबाबा का निवेश :

अलीबाबा भारत में भी सक्रीय है|देश के सबसे बड़े ऑनलाइन वालेट पेटीएम में अलीबाबा ने निवेश किया है|इसके अलावा अलीबाबा समूह की कंपनी यूसीवेब का ब्राउज़र भी भारत में खासा लोकप्रिय है| यूसीवेब का यूसी ब्राउजर भारत में 2009 से काम कर रहा है। चीन को छोड़कर इसके दुनियाभर में 1.1 अरब यूजर्स हैं, जिनमें से आधे करीब भारत में हैं। कंपनी का दावा है कि देश में उसके सक्रिय मासिक यूजर्स की संख्या 13 करोड़ है। यूसीवेब के ग्लोबल बिजनस वाइस प्रेजिडेंट हुआईयुआन यांग ने कहा कि कंपनी की योजना ई-कॉमर्स को बढ़ावा देने के लिए एक यूनिक, कंटेट आधारित मॉडल में संभावना तलाशने की है।भारत में पेटीएम में निवेश करने से कंपनी को इंडियन कंज्यूमर के खर्च करने के तरीकों और शॉपिंग पैटर्न को काफी करीब से जानने का मौका मिला।कम्पनी  यूसीवेब के जरिए भारत के ई-कॉमर्स बिजनस सॉल्यूशन सेक्टर में उतरेगी|