Arthgyani
होम > न्यूज > आईसीआईसीआई बैंक ने डिजिटल इंडिया को इनिशिएटिव लिया

आईसीआईसीआई बैंक ने भी दिया डिजिटल इंडिया इनिशिएटिव को बढ़ावा

डिजिटल इंडिया इनिशिएटिव ने काफी रफ्तार पकडी है

डिजिटल इंडिया इनिशिएटिव ने काफी रफ्तार पकडी है। सभी सेक्टरों में डिजिटलाइजेशन की गूंज है। सभी बैंकों ने डिजिटल इंडिया को इनिशिएटिव लिया है और बैंकिंग लेन-देन पर डिजिटल मोड को अपना लिया है। आईसीआईसीआई बैंक भी अब इस कतार में शामिल है। हालहि में आईसीआईसीआई बैंक ने एक नोटिस जारी किया, जिसमें बताया कि, ‘ग्राहकों का बैंकिंग लेन-देन डिजिटल मोड करने के लिए उत्साहित हैं। जिससे डिजिटल इंडिया इनिशिएटिव को बढ़ावा मिल सके। इसके अतिरिक्त बैंक ने मोबाइल बैंकिंग व इंटरनेट बैंकिंग के जरिए होने वाले नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर ( NEFT ), रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (RTGS ) और यूपीआई लेन-देन पर लगने वाले तमाम तरह के शुल्क को खत्म कर दिया है।

बता दे, प्राइवेट बैंक आईसीआईसीआई के सभी ग्राहकों को बैंक में पैसे जमा करने या निकालने पर 100 से 125 रुपए तक का शुल्क देना होगा। अगर डिजिटल मोड के जरिए पैसे जमा कर रहे हैं तो उस पर भी शुल्क लगेगा। 16 अक्टूबर से इस नियम को लागू किया जायेगा। इसके साथ ही बैंक ने अपने ‘जीरो बैलेंस’ अकाउंट होल्डर्स खाते को किसी अन्य बेसिक सेविंग्स खाते में बदलने या खाता बंद करने की सलाह भी दी है। इसके अतिरिक्त मोबाइल बैंकिंग व इंटरनेट बैंकिंग के सभी शुल्क को खत्म कर दिया है।

मौजूदा समय में 10,000 रुपए से लेकर 10 लाख रुपए तक के एनईएफटी लेन-देन पर 2.25 रुपए से लेकर 24.75 रुपए (जीएसटी अतिरिक्त) का चार्ज देना पड़ता है। वहीं, ब्रंचों से दो लाख रुपए से लेकर 10 लाख रुपए तक किए जाने वाले आरटीजीएस लेन-देन के लिए 20 रुपए से लेकर 45 रुपए (जीएसटी अतिरिक्त) का चार्ज लगता है।