Arthgyani
होम > न्यूज > शेयर बाजार

आरबीआई का इनकार टूटा शेयर बाजार

रिजर्व बैंक ने घटाया जीडीपी का अनुमान

भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक पर निवेशकों का विशेष ध्यान था| विभिन्न अनुमानों के अनुसार निवेशकों को रेपो रेट में कटौती की उम्मीदें थी| ये उम्मीदें गुरुवार को मौद्रिक नीति समीक्षा में पूरी नहीं हुई|बैठक में आरबीआई ने  नीतिगत दर में कोई बदलाव नहीं करने का निर्णय लिया| RBI कि बैठक से सुबह आशान्वित नजर आ रहे शेयर बाजार में देर शाम तक गिरावट नजर आने लगी|

जीडीपी में गिरावट का अनुमान:

जीडीपी की गिरावट का सिलसिला लगातार जारी है|मौद्रिक नीति समीक्षा में केंद्रीय बैंक ने इसके साथ ही 2019-20 में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) वृद्धि दर का अनुमान एक प्रतिशत से ज्यादा घटाकर पांच प्रतिशत कर दिया| विदित हो इससे पहले अक्टूबर में जारी मौद्रिक नीति समीक्षा में यह अनुमान 6.1 प्रतिशत पर था| बैठक में आरबीआई  ने मुख्य दर रेपो को 5.15 प्रतिशत पर बरकरार रखते हुये अर्थव्यवस्था को समर्थन देने के वास्ते अपने रुख को उदार बनाये रखा है|मौद्रिक नीति समीक्षा में कहा गया है,‘‘मौद्रिक नीति समिति ने माना है कि मौद्रिक नीति में भविष्य में कदम उठाए जाने की गुंजाइश बनी हुई है|बहरहाल,मौजूदा आर्थिक वृद्धि और मुद्रास्फीति आयामों को ध्यान में रखते हुए समिति ने इस समय दरों को अपरिवर्तित रखना उपयुक्त समझा|”अर्थव्यवस्था को सहारा देने के अनुमानों के विपरीत  भारतीय रिजर्व बैंक ने रेपो रेट को 5.15%, रिवर्स रेपो रेट 4.90% और बैंक दर को 5.40% पर स्थिर रहने दिया है|मौद्रिक नीति समिति के सभी छह सदस्यों ने रेपो दर को अपरिवर्तित रखने के पक्ष में अपनी सहमति दी|

बाजार में गिरावट:

भारतीय रिजर्व बैंक के गुरुवार को मौद्रिक नीति समीक्षा में नीतिगत दर में कोई बदलाव नहीं करने के बाद शेयर बाजार में गिरावट देंखने को मिली|आरबीआई के निर्णय के बाद सेंसेक्स 70 अंको की गिरावट के साथ 40779.59 पर बंद हुआ| जबकि निफ्टी 12018.40. पर बंद हुआ|इससे पहले भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समीक्षा में नीतिगत दरों में कटौती की उम्मीद के चलते शेयर बाजारों की शुरुआत अच्छी रही थी|बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स सुबह 11 बजकर आठ मिनट पर 99.34 अंक यानी 0.24 प्रतिशत बढ़कर 40,949.63 अंक पर चल रहा था जबकि एनएसई निफ्टी भी  26.80 अंक यानी 0.22 प्रतिशत की बढ़त के साथ 12,070 अंक पर थी|