Arthgyani
होम > न्यूज > आर्थिक सर्वे से होगा बजट-2020 का आकलन

आर्थिक सर्वे से होगा बजट-2020 का आकलन

आर्थिक सर्वे देश के विकास की सालाना रिपोर्ट है

बजट-2020 की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है|देश के हर वर्ग की निगाहें इस बजट पर लगी हुई हैं| आर्थिक सुस्‍ती के बीच 1 फरवरी को पेश होने वाला आम बजट मोदी सरकार के लिए भी चुनौतीपूर्ण है|परम्परा के अनुसार बजट से एक दिन पहले 31 जनवरी को आर्थिक सर्वेक्षण सदन में प्रस्तुत किया जाएगा |ये सर्वे केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण प्रस्तुत करेंगी|आर्थिक सर्वे के आधार पर बजट-2020 की दशा एवं दिशा का पता चलेगा|

आर्थिक सर्वे क्या है?

आर्थिक सर्वे दरअसल देश के विकास की सालाना रिपोर्ट होता है|जिसमे अर्थव्यवस्था से संबंधित आय व्यय का लेखा जोखा होता है| इसमें सरकार का ध्यान वांछित सेक्टर  की ओर इंगित किया जाता है|इस सर्वे के द्वारा अर्थव्यवस्था के समक्ष भावी चुनौतियों का अनुमान होता है|आर्थिक सर्वे वित्त मंत्रालय का अहम दस्तावेज होता है|कई बार आर्थिक सर्वे के जरिए सरकार को अहम सुझाव भी  दिए जाते हैं|हालांकि, इसकी सिफारिशें सरकार लागू करे, यह ​अनिवार्य नहीं होता है|बीते कुछ महीनों में देश के आर्थिक दशा को देखते हुए ये सर्वे काफी अहम माना जा रहा है|इस सर्वे पर वित्तीय मामलों से जुड़े हर वर्ग की निगाहें लगी रहेंगी|विदित हो कि देश में पहली बार आर्थिक सर्वे 1950-51 में जारी किया गया था|

मुख्य आर्थिक सलाहकार करते हैं तैयार?

आर्थिक सर्वे को वित्त मंत्रालय में मुख्य आर्थिक सलाहकार और उनकी टीम तैयार करती है| वर्तमान में मुख्य आर्थिक सलाहकर कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम हैं| ये रिपोर्ट कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम की अगुवाई में तैयार की गई है| वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण इसे शुक्रवार को सदन में पेश करेंगी|उन्होंने 4 जुलाई को अपना पहला आर्थिक सर्वे पेश किया था|

आर्थिक सर्वे यहा देखें:

31 जनवरी को पेश होने वाले आर्थिक सर्वे को सूचना एवं जनसंपर्क विभाग की वेबसाइट पर के साथ ही साथ https://www.indiabudget.gov.in पर भी देखा जा सकता है| लोकसभा टीवी पर  इसे लाइव भी देखा जा सकता है|