Arthgyani
होम > न्यूज > इन्फोसिस

इन्फोसिस को 23 प्रतिशत की बढ़त, कुल 4,457 करोड़ रुपये का मुनाफ़ा

कंपनी ने मात्र 9 से 10 फीसदी अपने ग्रोथ की संभावना जताई थी।

जानी मानी आईटी कंपनी इंफोसिस ने पिछली तिमाही यानि दिसंबर में 23 प्रतिशत की बढ़त हासिल करने में कामयाबी पाई। इस बढ़त के साथ इंफोसिस ने कुल 4,457 करोड़ रुपये मुनाफ़ा कमाया। ऐसे में कंपनी ने स्थिर मुद्रा में रेवेन्यू में अपने ग्रोथ के  अनुमानित आंकड़ों को बढ़ा दिया है। विदित हो कि कंपनी ने 9 से 10 फीसदी अपने ग्रोथ की संभावना जताई थी। देखा जाये तो कंपनी ने उम्मीद से कहीं बेहतर मुनाफ़ा हासिल किया है।

इकॉनोमिक टाइम्स के अनुसार शुक्रवार को बाज़ार बंद होने के बाद कंपनी ने अपने वित्तीय नतीजों की घोषणा की है। शेयर बाज़ार को जानकारी देते हुए इंफोसिस के सीईओ सलील पारेख ने बताया , ” हम लगातार ग्राहकों की जरूरतें समझने के लिए प्रयासरत हैं। हमारा फोकस ग्राहकों पे बना हुआ है। ग्राहक हमें डिजिटलाइजेशन के दूसरे चरण में प्रवेश पाने में सहभागिता निभा रहे हैं ।”  यही वजह है कि इंफोसिस ने 1.8 अरब डॉलर के बड़े ऑर्डर हासिल किए।

मुख्य बिंदु

  • शुक्रवार को बाज़ार बंद होने के बाद इनफ़ोसिस ने अपने वित्तीय नतीजों की घोषणा की।
  • इंफोसिस ने पिछली तिमाही में 23 प्रतिशत की बढ़त हासिल करने में कामयाबी पाई।
  • पिछली तिमाही में इंफोसिस ने कुल 4,457 करोड़ रुपये का मुनाफ़ा कमाया।
  • कंपनी के डिजिटलाइजेशन में ग्राहकों का भी सहयोग शामिल है।
  • कंपनी में कर्मचारियों के नौकरी छोड़ कर जाने की दर भी घटी है।

कंपनी के सीओओ प्रवीण राव ने कहा कि कई स्केल पर कंपनी का प्रदर्शन दिसंबर तिमाही में काफी बेहतर रहा है। हमने इस साल बड़े सौदों में 56 प्रतिशत ग्रोथ हासिल की है। कई स्केल्स पर पिछली तिमाही में कंपनी का प्रदर्शन काफी बेहतरीन रहा है। कर्मचारियों को कंपनी के साथ जोड़ कर रखने की हमारी कोशिश भी जारी है, यही कारण रहा कि कंपनी में कर्मचारियों के नौकरी छोड़ कर जाने की दर भी घटी है।

गौरतलब है कि पिछले वित्त वर्ष की दिसंबर तिमाही में इंफोसिस ने 3,609 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया था। विश्लेषकों ने इंफोसिस का मुनाफा 4,204.50 करोड़ रुपये रहने का अनुमान जताया था परन्तु  दिसंबर तिमाही में कंपनी का रेवेन्यू 7.9 फीसदी बढ़कर 23,092 करोड़ रुपये रहा। एक साल पहले की समान अवधि में यह आंकड़ा 21,400 करोड़ रुपये रहा था।