Arthgyani
होम > बाजार > शेयर बाजार > इन 5 शेयरों में निवेश हो सकता है फायदे का सौदा

इन 5 शेयरों में निवेश हो सकता है फायदे का सौदा

कारण मज़बूत आधार, लोन रिकवरी और विनिवेश प्राप्ति

बीते 20 सितंबर को सरकार द्वारा कॉरपोरेट टैक्स में कटौती के ऐलान के बाद निफ्टी में जो तेजी आई है, उसमें से आधे से ज्यादा हिस्सेदारी सिर्फ पांच हेवीवेट स्टॉक्स का बड़ा योगदान रहा है| इकनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार कंपनियों पर टैक्स का बोझ घटाने के ऐलान के बाद से बेंचमार्क इंडेक्स 11 प्रतिशत चढ़ा है|  इस तेजी में रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL), हाउजिंग डिवेलपमेंट फाइनैंस कॉरपोरेशन (HDFC), ICICI बैंक, एक्सिस बैंक और ITC (India Tobacco Company) ने सबसे ज्यादा योगदान दिया है| हम यहां बता रहे हैं कि आने वाले वक्त में इन शेयरों का प्रदर्शन कैसा हो सकता है| 

1) रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL)

(CMP (CURRENT MARKET PRICE): ₹1,427.8

20 सितंबर के बाद बदलाव: 21.1%)

मुकेश अंबानी की कंपनी में कई वजहों से निवेशकों की दिलचस्पी बनी हुई है|आरामको के विनिवेश से भी निवेशकों को बल मिला है| तेल से लेकर टेलिकॉम सेक्टर में दखल रखने वाली कंपनी का मुनाफा सितंबर तिमाही में 18 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ 11,262 करोड़ रुपए हो गया| विशेषज्ञों का मानना है कि कंपनी ने टावर, फाइबर एसेट्स, ऑयल व केमिकल बिजनस में स्टेक बेचने की योजना बनाई है, जिससे कंपनी कर्जमुक्त हो सकती है|  ब्रोकरेज फर्म IIFL में मार्केट्स के एग्जिक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट संजीव भसीन ने कहा, ‘अगर निफ्टी 13 हजार तक पहुंचता है तो उसमें रिलायंस की बड़ी भूमिका होगी|’ हाल में यह 9 लाख करोड़ रुपए के मार्केट कैप तक पहुंचने वाली देश की पहली कंपनी बनी थी| पिछले साल 8 लाख करोड़ के मार्केट कैप तक पहुंचने वाली रिलायंस पहली देसी कंपनी बनी थी| आज RIL 9.5 लाख करोड़ रुपए के कैप को छूने वाली देश की पहली कंपनी बन गई|    

2) एक्सिस बैंक (Axis Bank)

(CMP: ₹733.6 – 20 सितंबर के बाद बदलाव: 14.94%)

निवेशक स्टॉक पर पॉजिटिव बने हुए हैं, क्योंकि इसका ऑपरेटिंग परफॉर्मेंस मजबूत है| CIMB सिक्योरिटीज ने एक नोट में लिखा है, ‘बैंक का ऑपरेटिंग परफॉर्मेंस कुल मिलाकर मजबूत बना हुआ है| बैंक की लोन ग्रोथ तेज है| नेट इंट्रेस्ट मार्जिन लगातार मजबूत बना हुआ है| इसी वजह से एसेट क्वॉलिटी भी खराब नहीं हुई है| एक्सिस बैंक फंड जुटाने का काम पूरा कर चुका है| इसका टियर वन रेशियो 15.03% के साथ काफी मजबूत है|’ ब्रोकरेज हाउस ने एक्सिस बैंक को 950 रुपए के टारगेट प्राइस के साथ बाय रेटिंग दी है| वहीं, मोतीलाल ओसवाल के डेरिवेटिव ऐनालिस्ट चंदन टापरिया ने बताया कि एक महीने में एक्सिस बैंक का शेयर 765 रुपए तक जा सकता है और इसके लिए 695 रुपए पर सपोर्ट है| एस्सार स्टील से लोन रिकवरी प्राप्त होने से एक्सिस बैंक का भी अहम हिस्सा होगा जिससे इसके शेयरों में और सुधार होगा, ऐसी उम्मीद है| 

3)  HDFC (हाउजिंग डिवेलपमेंट फाइनैंस कॉरपोरेशन)

(CMP: ₹2,234.9 – 20 सितंबर के बाद बदलाव: 13.2%)

देश की सबसे बड़ी होम लोन कंपनी की प्रॉफिट ग्रोथ और एसेट क्वॉलिटी अच्छी बनी हुई है| इसलिए निवेशक इस पर बुलिश हैं| ब्रोकरेज फर्म नोमुरा ने एक हालिया नोट में लिखा है, ‘HDFC का सितंबर तिमाही में परफॉर्मेंस अच्छा रहा| कंपनी की नेट इंटरेस्ट इनकम में सालाना आधार पर 16 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई| HDFC का फंडिंग प्रोफाइल बेहतर हो रहा है, लेकिन सितंबर क्वॉर्टर में बिल्डरों को दिए गए लोन में एसेट क्वॉलिटी को लेकर इसे कुछ दबाव का सामना करना पड़ा| हालांकि, इसकी पहले से ही उम्मीद की जा रही थी|’ नोमुरा ने HDFC के स्टॉक की रेटिंग न्यूट्रल से अपग्रेड करके बाय कर दी है और इसका टारगेट प्राइस भी 2,550 रुपए से बढ़ाकर 2,300 रुपए कर दिया है| अभी हाल ही में दिवालिया हो चुके एस्सार स्टील पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले से रिकवरी की संभावना ने भी एक उम्मीद जगाई है| 

4. ITC (India Tobacco Company)

(CMP: ₹259.3 – 20 सितंबर के बाद बदलाव: 9.5%)

ITC को कॉरपोरेट टैक्स में कटौती का बड़ा फायदा हुआ है| मार्केट विशेषज्ञों का कहना है कि 20 सितंबर के बाद से भारतीय बाजार में विदेशी निवेश बढ़ा है और इसमें से अच्छा-खासा पैसा ITC में लगा है| ब्रोकरेज फर्म इडलवाइज में इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज के सीनियर वाइस प्रेजिडेंट अबनीश रॉय ने बताया, ‘हाल में सिगरेट पर टैक्स में भी बढ़ोतरी नहीं हुई है। हमारा मानना है कि आगे चलकर ITC की ग्रोथ 10 प्रतिशत CAGR (चक्रवृद्धि दर) रह सकती है| हालांकि, अगले छह महीनों में हमें टैक्स के मोर्चे पर होने वाले बदलाव पर नजर रखनी होगी| अगर इसमें 10 प्रतिशत से कम या कोई बढ़ोतरी नहीं होती है तो यह ITC के लिए खुशखबरी हो सकती है|

5) ICICI Bank

(CMP: ₹496.9 – 20 सितंबर के बाद बदलाव: 28.5%)

बैंक की एसेट क्वॉलिटी पर दबाव कम हो रहा है और इंडस्ट्री में प्रोविजन कवरेज रेशियो के लिहाज से भी यह सबसे अच्छे बैंकों में से एक है| एस्सार स्टील के ऊपर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से अन्य बैंकों के साथ आईसीआईसीआई बैंक के फंसे हुए लोन के पैसे वापस आने की संभावना बन रही है| प्रभुदास लीलाधर के एनालिस्ट प्रितेश बुंब ने बताया, ‘अगर दिवालिया अदालत में चल रहे कुछ मामलों का निपटारा होता है तो उससे ICICI बैंक को फायदा होगा। बैंक की लोन ग्रोथ नियमित रूप से बढ़ रही है| इससे बड़े आराम से 12-15 प्रतिशत का सालाना रिटर्न मिल सकता है|’ उन्होंने स्टॉक को 541 रुपए के टारगेट प्राइस के साथ बाय रेटिंग दी है| सितंबर तिमाही में ICICI बैंक के मुनाफे में 28 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई थी| विशेषज्ञों का कहना है कि MSCI ने इंडिया इंडेक्स में ICICI का वेटेज बढ़ा दिया है| इसलिए आगे चलकर इसके शेयर में और तेजी आ सकती है| मोतीलाल ओसवाल के चंदन टापरिया ने ICICI बैंक के लिए 525 रुपए का शॉर्ट टर्म टारगेट तय किया है| 

हालांकि टैक्स में छूट और विनिवेश की प्राप्ति की वजह से इन पांचो कंपनियों ने पिछले एक माह में बहुत अच्छी बढ़त दर्ज की है और अपने मज़बूत आधार के कारण इनके भविष्य में भी अच्छे कारोबार करने की संभावना है मगर निवेश करने से पूर्व इनके ऊपर एक अच्छा होमवर्क और रिसर्च जोखिम से बचने में सहायक होगा|