Arthgyani
होम > न्यूज > RHICL-रिलायंस हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी

IRDA ने RHICL को इंश्योरेंस पॉलिसी बेचने पर लगाई रोक!

रिलायंस हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी जून, 2019 से सॉल्वेंसी मार्जिन को मेनटेन करने में निष्फल

अनिल अंबानी के रिलायंस ग्रुप की रिलायंस हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी (RHICL) इंश्योंरेंस पॉलिसी बेचने से प्रतिबंधित कर दी गई है| इंश्योरेंस रेगुलेटर एंड डेवलपमेंट ऑथोरिटी (IRDA ) ने RHICL कंपनी को इंश्योरेंस पॉलिसी बेचने से रोक दिया है| बीमा कंपनी ने अक्टूबर 2018 में परिचालन दिया था|लेकिन निर्देशों का पालन नहीं करने की वजह से कंपनी को इरडा द्वारा नोटिस भेजा गया|कंपनी को अपना पक्ष रखने के लिए एक मौका दिया गया है|

इरडा ने बताया कि, रिलायंस हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी जून, 2019 से सॉल्वेंसी मार्जिन को मेनटेन करने में सफल नहीं हुई| इसलिए एक महीने में कंपनी को सॉल्सवेंसी मार्जिन को आवश्यक स्तर पर बहाल करने के निर्देश दिए| कंपनी को सूचित करने पर भी बीमा कंपनी ने अपनी पूंजी में सुधार नहीं किया|इंश्योरेंस रेगुलेटर एंड डेवलपमेंट ऑथोरिटी (IRDA ) ने रिलायंस हेल्थ इंश्योरेंस (RHICL) को अपना पूरा पोर्टफोलियो लायबिलिटीज को 15 नवंबर तक रिलायंस जनरल इंश्योरेंस कंपनी में ट्रांसफर करने का आदेश दिया है|कंपनी को सिर्फ पुरानी पॉलिसियों जारी रखने की अनुमति दी गई है|

फिलहाल, रिलायंस हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी लिक्विडिटी के संकट से भी जूझ रही है| रेगुलेटर के मुताबिक़ कंपनी के सॉल्वेसी मार्जिन फंड बहोत घट गए हैं|कंपनी क्लेम सेटेलमेंट के अलावा भुगतान के लिए अपने किसी एसेट का इस्तेमाल नहीं कर सकेगी|क्यूंकि मौजूदा पॉलिसीधारकों के क्लेम को पूरा करने के लिए कंपनी के पास पर्याप्त एसेट हैं|

सॉल्वेंसी मार्जिन फंड ऐसे फंड हैं, जिसे बीमा कंपनी पॉलिसीधारकों के भविष्य के क्लेम सेटेल करने के लिए अलग रखती है|