Arthgyani
होम > न्यूज > इलेक्ट्रिक-वाहन

इलेक्ट्रिक वाहन बनायेंगे प्रदूषण मुक्त भारत:गडकरी

भारत इलेक्ट्रिक वाहनों का हब बनेगा

देश को प्रदूषण मुक्त बनायेंगे इलेक्ट्रिक वाहन|भारत को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए जीवाष्म ईंधन से चलने वाले वाहनों की संख्या कम करनी होगी|इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए देश को इलेक्ट्रिक वाहनों का हब बनाना है|ये बातें सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कही|उन्होंने ये विचार बजाज ऑटो के इलेक्ट्रिक स्कूटर ‘चेतक’ की लांचिंग के अवसर पर रखे|

 गडकरी ने कहा कि भारत को इलेक्ट्रिक वाहनों का हब बनाना कठिन काम जरूर है लेकिन असंभव नहीं है।यह देश की आवश्यकता है और उन्हें भरोसा है कि इसको ऑटो क्षेत्र पूरा करेगा। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि आगामी पांच साल में उन्होंने महाराष्ट्र के पांच जिलों को डीजल और पेट्रोल से मुक्त करने का एक और लक्ष्य तय किया है। वहां पेट्रोल और डीजल की जगह एथनाल, बाॅयो डीजल तथा इलेक्ट्रिक से वाहन चलेंगे। इनमें इलेक्ट्रिक वाहनों की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका होगी इसलिए इलेक्ट्रिक वाहनों का उत्पादन बढाना है।पूरी दुनिया में डीजल और पेट्रोल वाहनों की तुलना में इलेक्ट्रिक वाहनों की संभावना के आकलन के बाद मुझे  पूरा विश्वास है कि बजाज का यह दोपहिया इलेक्ट्रिक वाहन इतिहास रचेगा और देश को इलेक्ट्रिक वाहनों का हब बनाने में अहम भूमिका निभाएगा।

बजाज के दोपहिया वाहनों का निर्यात तेजी से बढ़ेगा

बजाज की इस नयी पहल को प्रोत्साहित करते हुए गडकरी  ने कहा कि बजाज का केन्या सहित कई अफ्रीकी देशों तथा श्रीलंका आदि में बड़ा बाजार है|वहां भी इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों की जबरदस्त खपत होगी। इस वाहन की खूबियों को देखते हुए इन देशों में बजाज के दोपहिया वाहनों का निर्यात तेजी से बढ़ेगा और इलेक्ट्रिक वाहनों का निर्यात जल्द ही पेट्रोल तथा डीजल वाहनों की तुलना में अधिक हो जाएगा।

भारत इलेक्ट्रिक वाहनों का हब बनेगा:

गडकरी ने कहा कि इलेक्ट्रिक वाहनों की फिलहाल  उनकी बात का जबरदस्त विरोध हो रहा है|लोगों को लगता है कि इतनी  जल्दी ये वाहन कैसे बाजार में लाए जा सकते हैं?लगभग ऐसा ही विरोध  बीएस 4 से बीएस 6 में जाने पर भी हुआ था|विरोध के बावजूद भी ये निर्णय लेना देश को प्रदूषण से बचाने के लिए जरूरी था। इसी तरह से इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर लोगों में काफी नाराजगी है लेकिन बजाज के इस दोपहिया वाहन को देखकर उन्हें अब भरोसा हो गया है कि भारत इलेक्ट्रिक वाहनों का हब बनेगा।