Arthgyani
होम > योजना > उड़ान योजना – लक्ष्य, उद्देश्य – Udan Scheme in Hindi

उड़ान योजना – लक्ष्य, उद्देश्य – Udan Scheme in Hindi

उड़ान योजना की ऑफिसियल शुरुआत 27 अप्रैल 2017 को हुई थी

उड़ान उड़ान (उड़े देश का आम नागरिक): हवाई सफ़र करना लगभग हर भारतीय का सपना होता है, मगर उनमें से सभी इस सपने को पूरा नहीं कर पाते हैं| इसके पीछे कारण माना जाता है कि हवाई सफ़र करना बहुत महंगा होता है, और सत्य भी यही है कि हवाई सफ़र अन्य ट्रांसपोर्ट के मुकाबलें ज्यादा महंगे होते हैं|

उड़ान योजना क्या है?

उड़ान योजना का पूरा नाम ‘उड़े देश का आम नागरिक’ (UDAN) है| इसमें हवाई टिकटों के मूल्य को कम रखा जाता है, ताकि एक गरीब आदमी भी हवाई सफ़र के अपने सपने को कम मूल्य में पूरा कर सके|

उड़ान योजना की शुरुआत

आम लोगों को सस्ते में हवाई सफ़र कराने के उद्देश्य से केन्द्रीय सिविल एविएशन मंत्री अशोक गजपति राजू द्वारा उड़ान योजना को 21 अक्टूबर 2016 में लॉन्च किया था| लेकिन उड़ान योजना की ऑफिसियल शुरुआत 27 अप्रैल 2017 को हुई जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिमला से दिल्ली की पहली फ्लाइट का उद्घाटन किया था|

उड़ान योजना का लक्ष्य व उद्देश्य:

  • आम गरीब नागरिक भी कम मूल्य में हवाई सफ़र कर सके
  • क्षेत्रीय कंनेक्टिविटी को बढ़ावा देना, ताकि भारत का हर क्षेत्र हवाई मार्ग से जुड़े|
  • हवाई सफ़र को ख़ास लोगो के दायरे से निकाल कर आम लोगों तक पहुंचाना|
  • नए एयरपोर्ट्स का विकास करना| इसके लिए ऐसे स्थानों पर हवाई अड्डों का विकास किया जाएगा जिस स्थान पर अभी कोई एअरपोर्ट नहीं है|
  • इस योजना के लिए 128 रूट और 5 ओपरेटरों का विकास किया जाना है|
  • 500 किलोमीटर तक के हवाई सफ़र मात्र 2500 रूपए में भी एक नागरिक एयर सफ़र कर सके, यह इस योजना का लक्ष्य है|
  • इस योजना का एक प्रमुख उद्देश्य भारत के एयर ट्रांसपोर्ट के रैंकिंग में वृद्धि करनी भी है|
  • इस योजना के तहत 78 एयरपोर्ट्स और 31 हैलीपैड के निर्माण का लक्ष्य निर्धारित किया गया था|
  • छोटे एयरपोर्ट्स और कम क्षमता वाले हवाई जाहाजों के संचालन को बढ़ाया जाएगा|
  • यह अपने तरह की यूनिक योजना है जिसका लक्ष्य लोगों को कम दाम में हवाई सफ़र कराना है|