Arthgyani
होम > न्यूज > उपयोगी है म्युचुअल फंड के माध्यम से निवेश

उपयोगी है म्युचुअल फंड के माध्यम से निवेश

जानीये म्युचुअल फंड में निवेश की रणनीति

म्युचुअल फंड एक सरल एवं लाभदायक निवेश प्रणाली है|निवेश से लाभ  करने के लिए आपको एक कारगर निवेश नीति बनानी होगी|इस बात को हम एम्फी के इस कथन से समझ सकते हैं|AMFI के अनुसार हमें म्युचुअल फंड में नहीं बल्कि म्युचुअल फंड के माध्यम से निवेश करना चाहिए|आज हम बतायेंगे निवेश के लिए कारगर एवं उपयोगी तकनीकी जो हमें म्युचुअल फंड में किये निवेश पर बेहतरीन लाभ दिलाना सुनुश्चित करेगी|

Mutual Funds के माध्यम से निवेश:

जैसा कि एम्फी का कथन है हमें म्युचुअल फंड के माध्यम से निवेश करना चाहिए|इस कथन का अर्थ है म्युचुअल फंड के असेट अलोकेशन के अनुसार किया गया  निवेश|सामान्य सन्दर्भों में हम सभी म्युचुअल फंड में निवेश को लाभदायक समझते हैं|जबकि म्युचुअल फंड एकत्रित धन को विभिन्न माध्यमों में शोध के आधार पर निवेश करते हैं| जिससे उच्च लाभ मिलने की संभावना होती है|

फंड्स की निवेश योजना पर रखें नजर:

इक्विटी, डेट, लार्ज एवं मिड कैप के आधार पर म्युचुअल फंड का फंड मैनेजर निवेश के स्थानों का चुनाव करता है|ये विभिन्न वर्गीकरण फंड के झुकाव की ओर संकेत करते हैं| जिससे पता चलता है कोई भी किस सेक्टर में निवेश की ओर उन्मुख|फंड मैनेजर बाजार के उतार चढाव के आधार पर अपनी निवेश योजना बनाता है|अगर निवेशक भी फंड अलोकेशन के अनुसार म्युचुअल फंड का चुनाव करेंगे तो निश्चित तौर उन्हें अपने निवेश का बड़ा प्रतिलाभ प्राप्त है|अतः निवेश के पूर्व फंड कि निवेश योजना अवश्य जांच लें|

PSU कंपनियों पर केंद्रित फंड:

पीएसयू या सरकारी कम्पनियों में निवेश करने वाले फंड निवेश के लिए मुनाफे कि वजह साबित हो सकते हैं|हाल ही में IRCTC के शेयरों के रिटर्न से हम इसका महत्त्व समझ सकते हैं|IRCTC के शेयरों ने निवेशक को मालामाल कर दिया है|ऊँचे दाम के कारण जो निवेशक इस IPO में निवेश नही कर सके वे इसमें निवेश करने वाले फंडों के माध्यम से irctc के शेयरों में निवेश कर सकते हैं|सरकारी कंपनियों में विनिवेश को लेकर सरकार तेजी दिखा  रही है, जिससे आनेवाले समय में इन कंपनियों का मूल्यांकन आकर्षक हो सकता है|अतः पीएसयू आधारित फंड भविष्य में फायदे का सौदा साबित होंगे| म्‍युचुअल फंड की विभिन्न वेबसाइट्स के आंकड़ों के मुताबिक हाल के समय में पीएसयू फंडों ने बेहतर रिटर्न दिया है|सरकार की  वरीयता को देखते हुए और अच्छे प्रदर्शन की गुंजाइश भी बनी हुई है। फंड मैनेजरों का मानना है कि आगे चलकर सरकारी कंपनियों में विनिवेश से इनको फायदा हो सकता है। इस समय देखा जाए तो ज्यादातर सरकारी कंपनियों के मूल्यांकन सस्ते हैं और इनका कॉर्पोरेट गवर्नेंस भी अच्‍छा है। साथ ही विनिवेश या रणनीतिक बिक्री से इनके मूल्यों में तेजी आ सकती है।

क्या हैं PSU कंपनियां?

भारत में बाजार पूंजीकरण के लिहाज से 25 बड़ी कंपनियों में से 5 सरकारी(पीएसयू)कंपनियां हैं|सरकारी कंपनियों का बाजार पूंजीकरण पर 12 फीसदी हिस्सा है।निफ्टी की 50 कंपनियों में से 8 सरकारी कंपनियां हैं।अधिकतर सरकारी कंपनियों का पुनर्गठन हो रहा है| कई सरकारी कंपनियों के शेयर स्टॉक एक्सचेंज पर सूचीबद्धता में बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं|