Arthgyani
होम > न्यूज > शेयर बाजार

एफपीआई निकासी से बेजार हुआ बाजार

244 करोड़ रुपये की शुद्ध निकासी

नये कीर्तिमान बनाने के बाद से शेयर बाजार का बिखराव जारी है|भारतीय रिजर्व बैंक के नीतिगत दरों में बदलाव नहीं करने के फैसले के बाद से ही बाजार में गिरावट जारी है|एफपीआई निवेशकों की बिकवाली के कारण शेयर बाजार बेजार नजर आया | अंतिम कारोबारी दिन बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का सेंसेक्स पिछले सप्ताह के मुकाबले 348.66 अंकों यानी 0.85 फीसदी की गिरावट के साथ 40,445.15  पर बंद हुआ| जबकि नेशनल निफ्टी भी पिछले सप्ताह से 134.55 अंकों यानी 1.12 फीसदी की गिरावट के साथ 11,921.50 पर बंद हुआ|

244 करोड़ रुपये की शुद्ध निकासी:

प्रमुख शेयर संवेदी सूचकांकों में गिरावट का मुख्य कारण है विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों की बिकवाली|डिपॉजिटरीज के आंकड़ों के मुताबिक, आर्थिक आंकड़ों में गिरावट के बीच दिसंबर माह में घरेलू पूंजी बाजार में विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने 244 करोड़ रुपये की शुद्ध निकासी की है। दिसंबर महीने में विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक शुद्ध रूप से बिकवाल नजर आ रहे हैं।विदित हो कि एफपीआई निवेशकों ने शेयरों से 1,668.8 करोड़ रुपये निकालकर ऋणपत्रों/बॉन्ड में 1,424.6 करोड़ रुपये लगाए हैं।इन आंकड़ों के अनुसार बाजार से  244.2 करोड़ रुपये की शुद्ध निकासी हुई है।

क्यों हुई निकासी?

बीते महीने की बात करें, तो नवंबर में एफपीआई ने 22,871.8 करोड़ रुपये की शुद्ध लिवाली की थी।जबकि अक्तूबर में यह आंकड़ा 16,037.6 करोड़ रुपये था। ऐसे में ये सवाल उठता है क्यों हो रही है बाजार से निकासी? बाजार विशेषज्ञों के अनुसार विदेशी निवेशक भारतीय जीडीपी में आयी गिरावट को लेकर सशंकित नजर आ रहे हैं| सितंबर तिमाही में भारत की जीडीपी की वृद्धि दर घटकर 4.5 फीसदी रह गई है। जिसके कारण एफपीआई निवेशक ने भारतीय शेयरों में निवेश करने में विशेष सतर्कता बरत रहे हैं|