Arthgyani
होम > न्यूज > टेक्नोलॉजी > ऑटोमोबाइल

ऑटोमोबाइल कंपनियों की बिक्री में गिरावट जारी

2-व्हीलर की बिक्री सालाना आधार पर 22.09 फीसदी घटी

देश में त्योहार के माहौल के बावजूद वाहन बिक्री में गिरावट का सिलसिला जारी है| सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (SIAM) की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार ऑटो कंपनियों के लिए सितंबर का महीना भी बिक्री के लिहाज से  बेहद निराशाजनक साबित हुआ है।सियाम के आंकड़ों के अनुसार सितंबर में पैसेंजर्स गाड़ियों की बिक्री सालाना आधार पर 33.4 फीसदी घटकर 1.31 लाख यूनिट रही है।

सियाम के ताजा आंकड़ों के मुताबिक सितंबर महीने में पैसेंजर कारों के साथ-साथ टू-व्हीलर्स और कॉमर्शियल वाहनों की बिक्री में भी गिरावट दर्ज की गई है।चार पहिया वाहनों के साथ ही 2-व्हीलर की बिक्री सालाना आधार पर 22.09 फीसदी घटकर महज  16.6 लाख यूनिट रही है।जबकि घरेलू पैसेंजर वाहनों की सालाना बिक्री 23.7 फीसदी घटकर 2.23 लाख यूनिट रही है। इसके अलावा  कमर्शियल वाहनों की सालाना बिक्री 39.1 फीसदी घटकर 58,419 यूनिट रही है।

मारुति सुजुकी और अशोक लेलैंड संकट में:

देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी एक बयान में कहा कि सितंबर महीने में उसकी बिक्री 24.4 प्रतिशत घट गई है|मारुति के मुताबिक, इस साल सितंबर में उसने 1,22,640 वाहन बेंचे, जबकि पिछले साल इसी महीने में कंपनी ने 1,62,290 वाहन बेचे थे| ऑल्टो और वैगन आर समेत कंपनी की मिनी कारों की बिक्री इस साल सितंबर के दौरान 42.6 प्रतिशत घटकर 20,085 वाहन रह गई. एक साल पहले इसी महीने में यह आंकड़ा 34,971 इकाई पर था. इसी तरह कॉम्पैक्ट वाहन खंड में कंपनी की बिक्री 22.7 प्रतिशत घटकर 57,179 इकाई रह गई, जो सितंबर, 2018 में 74,011 इकाई थी|हिंदुजा समूह की प्रमुख कंपनी अशोक लेलैंड की सितंबर महीने में वाणिज्यिक वाहनों की कुल बिक्री 55 प्रतिशत गिरकर 8,780 वाहन रह गई|कंपनी ने एक साल पहले इसी महीने में 19,374 वाहन बेचे थे|बिक्री की कमी कि वजह से दोनों ही कम्पनियों ने अपने उत्पादन को घटाया है|