Arthgyani
होम > न्यूज > टेक्नोलॉजी > फिएट क्रिसलर और पीएसए

ऑटोमोबाइल कंपनी फिएट क्रिसलर और पीएसए का विलय: होगा नई कंपनी का निर्माण

विलय से दोनों कंपनियों के कारोबार में करीब 22,000 करोड़ रुपए की बचत होगी

ऑटोमोबाइल कंपनी फिएट क्रिसलर और पीएसए का विलय होगा| ये कम्पनियां जानी मानी ब्रांड पीवीपीएल (पियाजियो) की ग्रुप कंपनी हैं| पियाजियो वैहकिल्स प्राइवेट लिमिटेड (पीवीपीएल) दोपहिया वाहन के निर्माण में यूरोप में सबसे आगे है और भारत में छोटे वाणिज्यिक वाहनों का निर्माण करती है। अब पीवीपीएल की ग्रुप ऑटोमोबाइल कंपनी फिएट क्रिसलर और पीएसए के इस विलय से एक और बड़ी वाहन निर्माता कंपनी का उद्भव होगा| जिसमें हर साल 87 लाख से अधिक कारें बेची जायेंगी। नई कंपनी में फिएट क्रिसलर और पीएसए की आधी-आधी हिस्सेदारी होगी। ऑटोएनडीटीवी डॉट कॉम के मुताबिक विलय से दोनों कंपनियों के कारोबार में करीब 22,000 करोड़ रुपए (2.8 अरब यूरो) की बचत होगी। 2018 में दोनों कंपनियों की कुल आय करीब करीब 13.38 लाख करोड़ रुपए थी। इस दौरान दोनों कंपनियों का संचालन लाभ करीब 86,607 करोड़ रुपए (11 अरब यूरो) से अधिक था। दोनों कंपनियों के मुताबिक विलय से उनका कुल रेवेन्यू करीब 29,000 करोड़ रुपए (3.7 अरब यूरो) जितना बढ़ जाएगा।

बता दें, पियाज्यो के सीईओ कार्लोस तवारेस कंपनी को संभालेंगे। एफसीए के प्रमुख जॉन एलकान नई कंपनी के चेयरमैन होंगे। दोनों कंपनियों को बोर्ड द्वारा विलय की मंजूरी मिल चुकी है। कुछ सप्ताह में कंपनी को एमओयू मिल जाएगा। कंपनी के बोर्ड में 11 सदस्य होंगे। नई कंपनी हर साल 87 लाख से अधिक कारें बेचेंगी। दोनों कंपनियां 5-5 सदस्य को शामिल करेगी| इस विलय से दोनों कंपनियों को 22,000 करोड़ रुपए का मुनाफा होगा|