Arthgyani
होम > न्यूज > टेक्नोलॉजी > ऑटोसेक्टर: कहीं ख़ुशी कहीं गम…

ऑटोसेक्टर: कहीं ख़ुशी कहीं गम…

मारुति सुजुकी की बिक्री में 2.5% की बढ़त

बीते वर्ष ऑटोमोबाइल सेक्टर की मंदी ने काफी चर्चा बटोरी थी| देश की प्रमुख कंपनियों ने बिक्री की कमी के आंकड़े पेश किये थे| इस दौरान मारुति-सुजुकी और अशोक लेलैंड जैसी बड़ी कम्पनियों को भी अपना उत्पादन रोकना पड़ा था|हालांकि इस दौरान देश की दूसरी बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनी हुंडई मोटर इंडिया (एचएमआईएल) लाभ में रही|साल के पहले दिन आयी रिपोर्ट ने नतीजों में परिवर्तन ला दिया है|

हुंडई मोटर इंडिया की बिक्री में गिरावट:

बुधवार को जारी किये गये हुंडई के आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार कंपनी ने दिसंबर 2019 के लिए निर्यात सहित अपनी कुल बिक्री में 9.9 फीसदी की गिरावट दर्ज की है| हुंडई ने बताया कि समीक्षाधीन महीने के दौरान कुल बिक्री दिसंबर 2018 के दौरान बेचे गए 55,638 वाहन से घटकर 50,135 रह गई है|इसके अलावा समीक्षाधीन अवधि में कंपनी की घरेलू बिक्री 2018 की इसी अवधि के दौरान बेचे गए 42,093 वाहन से 9.8 फीसदी घटकर 37,953 वाहन रह गया|दिसंबर 2018 में कंपनी द्वारा विदेशों में निर्यात किए गए 13,545 वाहन से 10.06 फीसदी घटकर दिसंबर 2019 में महज 12,182 वाहन रह गया है| बता दें कैलेंडर वर्ष के आधार पर ऑटोमोबाइल की प्रमुख कम्पनियों ने  2018 की तुलना में 2019 में कुल 2.6 फीसदी की गिरावट दर्ज की है| कंपनी ने 2018 में जहां निर्यात सहित कुल 710,012 वाहन बेचे| जबकि 2019 में इनकी संख्या घटकर 691,460 तक पहुंच गयी|

निर्यात में इजाफा:

2019 के दौरान घरेलू बिक्री में कमी के बीच हुंडई ने निर्यात के मामले में बढ़ोतरी दर्ज की है|2018 के दौरान जहां कंपनी ने कुल 160,010 वाहनों का निर्यात किया था, वहीं 2019 में यह 13.2 फीसदी बढ़कर 181,200 वाहन पर पहुंच गया|

मारुति सुजुकी को मिली राहत:

वर्ष 2019 के दौरान कम बिक्री से जूझ रही देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी को थोड़ी राहत मिली है|मारुति सुजुकी के आंकड़ों के अनुसार कंपनी ने दिसंबर में अपनी बिक्री में 2.5 फीसदी की बढ़त हासिल की है|मारुति ने दिसंबर महीने में कुल 1,22,784 कारों की बिक्री की है| दिसंबर 2018 में कंपनी ने 1,19,804 वाहनों की बिक्री की थी |पिछले करीब एक साल से ऑटो सेक्टर में गिरावट और सुस्ती का जो आलम है उसे देखते हुए यह राहत देने वाली खबर है|हुंडई की बिक्री की गिरावट की खबर ने माहौल को कहीं ख़ुशी कहीं गम जैसा बना दिया है|