Arthgyani
होम > बाजार > शेयर बाजार > कारोबार के अंतिम घंटे में बिकवाली से सेंसेक्स 180 अंक गिरा

कारोबार के अंतिम घंटे में बिकवाली से सेंसेक्स 180 अंक गिरा

रिलायंस इंडस्ट्रीज और एचडीएफसी बैंक जैसे दिग्गज कंपनियों के शेयरों में ज्यादा बिकवाली हुई।

आज मंगलवार को BSE बेंचमार्क सेंसेक्स 41.85 अंक ऊपर 41,684.51 पर और NSE निफ्टी 2 अंकों से कम की बढ़त के साथ 12,269.25 पर खुला। शुरुआत में मामूली बढ़त बनी रही। सेंसेक्स पर टाइटन और मारुति के शेयरों में तेजी देखने को मिली। शुरुआती घंटे के कारोबार में सेंसेक्स में उतार-चढ़ाव चलता रहा, इंडेक्स 41,702 के हाई तक जाकर करीब 50 अंक नीचे आ गया।

आज के बढ़त वाले शेयर

सेंसेक्स के जिन शेयरों में सबसे ज्यादा बढ़त देखने को मिली उनमें इंडसइंड बैंक, ओएनजीसी, महिंद्रा ऐंड महिंद्रा, हीरो मोटोकॉर्प और एशियन पेंट्स हैं। निफ्टी के टॉप गेनर्स में जी लिमिटेड, इंडसइंड बैंक, यस बैंक, ओएनजीसी और सिप्ला प्रमुख रहे।

आज के गिरने वाले शेयर

सेंसक्स के गिरने वाले शेयरों में एचसीएल टेक, टेक महिंद्रा, एचडीएफसी बैंक, ऐक्सिस बैंक और टीसीएस सबसे आगे हैं। वहीँ निफ़्टी पर  एचसीएल टेक, टेक महिंद्रा, ऐक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक और विप्रो 5 प्रमुख लूजर्स हैं।

गौरतलब है कि शेयर बाजारों में मंगलवार को गिरावट का प्रमुख  कारण रहा कारोबार के अंतिम घंटे में बिकवाली जिसने बाजार पर दबाव बढ़ा दिया। रिलायंस इंडस्ट्रीज और एचडीएफसी बैंक जैसे दिग्गज कंपनियों के शेयरों में ज्यादा बिकवाली हुई। डॉलर के मुकाबले रुपये में हल्की कमजोरी देखने को मिली।

सप्ताह के पहले दिन बाज़ार

चार कारोबारी सत्रों से रेकॉर्ड बनाने का सिलसिला सोमवार को थम गया। मुख्य रूप से रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में भारी बिकवाली से सेंसेक्स और निफ्टी नीचे आए। सेंसेक्स 38.88 अंक या 0.09 प्रतिशत के नुकसान से 41,642.66 अंक पर बंद हुआ। इसी तरह नैशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 9.05 अंक या 0.07 प्रतिशत के नुकसान से 12,262.75 अंक पर सिमटा था।
मंगलवार को कारोबार के अंत में BSE  सेंसेक्स 181.40 अंक यानी 0.44 फीसदी गिरकर 41,461.26 अंक पर बंद हुआ।NSE निफ्टी 50 भी 48.20 अंक गिरकर कारोबार के अंत में 12,214.55 अंक पर रहा। ज्ञात हो बुधवार को क्रिसमस के उपलक्ष्य में शेयर बाजार बंद रहेगा।
विश्लेषकों का कहना है कि कारोबारियों की नजरें गुरुवार को डेरिवेटिव सौदों की एक्सपायरी पर भी है। हर महीने के आखिरी गुरुवार को डेरिवेटिव सौदों की एक्सपायरी होती है। शंघाई और टोक्यो स्टॉक एक्सचेंज के प्रमुख सूचकांक हरे निशान में बंद हुए। हांगकांग और सियोल के शेयर बाजार लाल निशान में बंद हुए।