Arthgyani
होम > न्यूज > अर्थव्यवस्था समाचार > कृषि समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी

किसानों को मिला मोदी सरकार से दिवाली का तोहफ़ा

रबी फसलों के समर्थन मूल्य में सरकार ने किया 5 प्रतिशत की बढ़ोतरी

किसानों की आय को बढ़ाने के उद्देश्य से सरकार ने रबी की फसलों के समर्थन मूल्य में 5 प्रतिशत का इजाफ़ा करने का फैसला किया है। आर्थिक मामलों के केंद्रीय मंत्रिमंडल समिति की बैठक में इसको मंज़ूरी मिल गयी। इस बैठक की अध्यक्षता प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी कर रहे थे।
बैठक के बाद सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने बैठक के बाद बताया कि रबी फसलों के समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी की गयी है। केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक से किसानों को काफी उम्मीदें थीं और उन्हें बड़ी राहत मिल गई है।

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की तरफ से दिवाली से पहले यह किसानों को बड़ा तोहफा है। जिसमें सरकार ने वित्त वर्ष 2020 -21 (जुलाई-जून) की आगामी रबी सीजन की फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने का फैसला लिया है। एमएसपी यानी न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ने से अब किसानों को बड़ा फायदा होगा। गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य 85 रुपये प्रति कुंटल बढ़ाया गया है। वहीं दालों के एमएसपी में सरकार ने 325 रुपये का इजाफा किया है।
रबी फसलों के एमएसपी में वृद्धि की सिफारिश सीएसीपी यानी कृषि लागत एवं मूल्य आयोग ने की थी।

बढे हुए समर्थन मूल्य –

  • गेहूं का समर्थन मूल्य में 85 रुपये का इजाफा हुआ, 1840 रुपये  से बढ़कर 1,925 रुपये हुआ प्रति कुंटल मूल्य ।
  • बार्ले के समर्थन मूल्य में 85 रुपये प्रति कुंटल का इजाफा हुआ है। यह 1,440 रुपये प्रति कुंटल से 1,525 रुपये प्रति कुंटल हो गया है।
  • वहीं मसूर के एमएसपी 325 रुपये प्रति कुंटल बढ़ा, जिसके बाद यह 4,800 रुपये हो गया है, पहले यह 4,475 रुपये था।
  • चने के एमएसपी में 255 रुपये की बढ़ोतरी की गई है और इसे 4,875 रुपये प्रति कुंटल कर दिया गया है। यह 4,620 रुपये प्रति कुंटल थी।