Arthgyani
होम > बाजार > पारले जी

घाटे से उभरी पारले जी, मुनाफे में हुई बढ़त

मुनाफे में 15.2 फीसदी बढ़त देखने को मिली

पारले जी कंपनी काफी दिनों से घाटे में चल रही थी| पारले प्रोडक्ट हेड मयंक शाह ने बताया कि, कंपनी ने सरकार से जीएसटी कम करने की मांग की है| वहीं पारले जी के मुनाफे की खबर सामने आई है|पारले प्रॉडक्ट्स को कारोबारी साल 2018-19 में मुनाफे में15.2 फीसदी बढ़त देखने को मिली है|

विदित हो, बिजनस प्लैटफॉर्म टॉफ्लर के मुताबिक, कंपनी हर साल 10 हजार करोड़ रुपये के बिस्किट की बिक्री करती है| पिछले वित्त वर्ष में पारले बिस्किट्स का शुद्ध मुनाफा 410 करोड़ रुपये था, जो वित्त वर्ष 2017-18 में 355 करोड़ रुपये हुआ| इस दौरान कंपनी को आमदनी में 6.4 फीसदी का मुनाफा हुआ और वह बढ़कर 9,030 करोड़ रुपये हो गई| 2017-18 में यह आंकड़ा 8,780 करोड़ रुपये था| हालांकि, पारले जी मैन्युफैक्चरर्स कंपनी ने नुकसान की आशंका को देखते हुए, सरकार से जीएसटी कम करने की मांग की थी|

कंपनी ने पहले बताया था कि, बिस्किट पर सबसे ज्यादा जीएसटी लग रहा है। जिसे 100 रुपये प्रति किलो से बेचा जा रहा है| प्रति पैकेट 5 रूपये में बेचा जाता है| इससे कंपनी की लागत भी नहीं निकल रही है, जिससे अब वर्कर्स को निकालने के सिवा कोई और रास्ता नहीं बचा है| हालांकि अगर सरकार GST की दरों को कम नहीं  करती है तो फैक्टरियों में काम करने वाले वर्कर्स लगभग 8,000-10,000 लोगों को काम छोड़ना पड़ेगा|