Arthgyani
होम > न्यूज > लघु सूक्ष्म एवं मध्यम उपक्रम

जम्मू-कश्मीर प्रशासन का सरकारी विभागों को ख़ास निर्देश

सरकारी विभागों को 358 सामग्रियां और सेवाएं एमएसएमई से खरीदने का निर्देश जारी हुआ।

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने अपने सभी सरकारी विभागों को एक ख़ास निर्देश जारी किये हैं। प्रशासन ने अपने विभागों, सरकारी कंपनियों तथा सहयोगी संस्थानों को सामग्री एवं सेवाओं को, लघु- सूक्ष्म एवं मध्यम उपक्रमों (MSME -Micro, Small & Medium Enterprises) से खरीदने का निर्देश दिया है। सामग्रियों की सूचि में कुल 358 प्रकार की सामग्री शामिल है।  

समाचार एजेंसी से प्राप्त ख़बरों के अनुसार जम्मू कश्मीर सरकार में वित्त विभाग ने ये निर्देश जारी किया है कि सभी सरकारी विभाग, सरकारी कम्पनियां एवं सहयोगी संस्थान केवल MSME (लघु, सूक्ष्म एवं मध्यम उपक्रमों) से ही सामग्रियां व सेवाएँ खरीदेंप्रशासन ने सभी प्रशासकीय सचिवों और विभाग प्रमुखों को सख्ती से इस दिशानिर्देश का पालन करने के लिये कहा है।

मुख्य बिंदु

  • जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने अपने सभी सरकारी विभागों को एक ख़ास निर्देश जारी किये हैं।
  • सभी सरकारी विभागों को MSME से सामग्री एवं सेवाएँ  ख़रीदने का निर्देश दिया गया है।
  • वित्त विभाग ने छोटे उद्यमियों को बढ़ावा देने हेतू यह महत्वपूर्ण फैसला किया है।
  • प्रशासन ने सभी प्रशासकीय सचिवों और विभाग प्रमुखों को भी सख्ती से इसका पालन करने को कहा है।
  • इन सामग्रियों की सूची में कुल 358 प्रकार की सामग्री शामिल हैं।

रविवार को वित्त विभाग के एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि छोटे उद्यमियों को बढ़ावा देने हेतू यह महत्वपूर्ण फैसला किया गया हैगौरतलब है कि MSME से ख़रीदे जाने वाले 358 प्रकार की सामग्रियों की सूची में बाल्टियां, जूते, नारियल के रेशे से बने सामान, शीशे के बर्तन, कपड़े, हैंड पंप, घरेलू इलेक्ट्रिक उपकरण, जूट के फर्निचर, वाहनों के हेडलाइट, 15 हॉर्स पावर तक के डीजल इंजन, आरसीसी पाइप,  इस्पात की आलमारियां, नल, ऊन व सिल्क के सामान, ट्रांजिस्टर रेडियो, शौचालय के सामान,15 हजार लीटर तक की पानी की टंकियां आदि शामिल हैं।