Arthgyani
होम > म्यूच्यूअल फंड > CPOF

जानिये कैपिटल प्रोटेक्शन ओरिएंटेड फंड का कैसे करें चयन!

कैपिटल प्रोटेक्शन ओरिएंटेड फंड निवेशकों की पूंजी को सुरक्षित रखते हैं

म्यूचुअल फंड में निवेश के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाएं बनती रहती हैं|निवेशक अपनी पूंजी को हर तरह से सुरक्षित रखना चाहते हैं| फंड में निवेश से होने वाले जोखिम की जानकारी होना भी अनिवार्य है|निवेशकों को अपनी पूंजी को सुरक्षित रखना है तो आइये जानते हैं ऐसे ही एक फंड के बारे में जिसे “कैपिटल प्रोटेक्शन ओरिएंटेड फंड” के नाम से जाना जाता है|

कैपिटल प्रोटेक्शन ओरिएंटेड फंड क्या होता है?

Capital Protection Oriented Fund/ CPOF ऐसे फंड हैं जो निवेशकों की पूंजी को सुरक्षित रखने का पूरा प्रयास करते हैं| जो भी निवेशक इक्विटी बाजार में निवेश करना चाहते हैं उनकी पूंजी को CPOF फंड सुरक्षित रखते हैं| कैपिटल प्रोटेक्शन ओरिएंटेड फंड पूंजी के मेच्योर हो जाने पर पॉजिटिव रिटर्न मिलता है। इसलिए सीपीओएफ निवेश का एक आकर्षक विकल्प है।

CPOF में निवेश की अवधि

इस फंड में निवेश की अवधि दो, तीन साल या उससे अधिक पांच साल तक की लॉक-इन अवधि होती है| इसके आधार पर ही स्टॉक एक्सचेंजों पर नजर रखी जाती है। और ध्येय निश्चित किए जाते हैं| निवेशक इस फंड में अपनी पूंजी लंबी लॉक-इन अवधि के लिए रखते हैं, हालांकि इनकी ट्रेडिंग कम होती है| ये फंड अपने बेंचमार्क इंडेक्स व एसेट एलोकेशन के लिए क्रिसिल एमआईपीईएक्स का उपयोग करते हैं। अवधि खत्म होने के दौरान फंड में पूंजी रहती है साथ ही निवेशकों को इक्विटी के पार्ट से रिटर्न भी मिलता है। इसमें निवेशकों को इक्विटी बाजार के उतार-चढ़ाव की चिंता करने की जरूरत नहीं होती क्योंकि इसमें पूंजी डेट में निवेश की वजह से सुरक्षित रहती है।

CPOF पर डेट फंडों की तरह टैक्स

कैपिटल प्रोटेक्शन ओरिएंटेड फंड (CPOF) पर डेट फंडों की तरह ही टैक्स लगता है। जब व्यक्ति 1 साल से कम अवधि के लिए है तो उसे शॉर्ट टर्म गेन माना कहते हैं| और इस जमा राशि में व्यक्ति पर लगने वाला टैक्स उसके कर-वर्ग के आधार पर लगता है| CPOF में सेबी ने एएए से कम रेटेड डेट इंस्ट्रूमेंट में निवेश करने पर रोक लगा रखी है। इसमें सबसे बड़ा जोखिम क्रेडिट रिस्क है|इसलिए फिलहाल क्रेडिट रिस्क ध्यान में र्कह्क्र निवेश करना अनिवार्य है|इससे स्कीम में शामिल डेट इंस्ट्रूमेंट से उनकी गुणवत्ता का पता लगया जा सकता है।

CPOF का कैसे करें चयन

कैपिटल प्रोटेक्शन ओरिएंटेड फंड में निवेश करने से पहले निवेशकों को उच्चतम रेटिंग वाले सीपीओएफ में ही निवेश करना चाहिए। फंड का चयन उनके इक्विटी फंड प्रबंधक की क्षमता पर किया जाना चाहिए| इस तरह से जब भी इक्विटी बाजार में तेजी दिखती है तो रिटर्न अधिक मिलने की संभावनाएं रहती हैं| यदि बात प्रदर्शन की करें तो विश्लेषण से पता चला कि सीपीओएफ फंड के मैच्योर होने पर सकारात्मक रिटर्न तो मिलता ही है| साथ ही बाजार से ख़रीदे गए शेयरों में भी तेजी देखने को मिलती है| इस तरह से CPOF को चयन करते समय इन बातों का ध्यान रखना अनिवार्य है| यदि आप अत्यधिक लाभ की इच्छा रखते हैं तो इस फंड से जुड़ी हर तरह की बारीकी को जानें|

जो भी निवेशक इक्विटी बाजारों में निवेश करते हैं तो इक्विटी बाजारों में जारी अनिश्चितताओं से इस श्रेणी से जुड़े फंडों की ओर निवेशकों का ध्यान केन्द्रित होता है| इस तरह से कैपिटल प्रोटेक्शन ओरिएंटेड फंड में निवेशकों की पूंजी को सुरक्षित रखा जाता है|