Arthgyani
होम > म्यूच्यूअल फंड > म्यूचुअल फंड

जानिये! म्यूचुअल फंड में निवेश से फायदे और नुकसान के बारे में

म्यूचुअल फंड में निवेश से फायदे और नुकसान के बारे में जानें

म्यूचुअल फंड लोगों की बचत राशि को निवेश करने का अच्छा विकल्प है| इसमें भी निवेश के कई विकल्प हैं, शेयर बाजार में, कम्पनियों और बैंकों के फंडों में भी मुयूचुअल फंड निवेश के कई विकल्प होते हैं| इनमें लेनदेन उच्च मात्रा में होने से ट्रेडिंग लागत कम होती है|इसमें निवेश करने से पहले हर व्यक्ति को फायदे और नुकसान के बारे में जानकारी में निवेश करना लाभकारी सिद्ध होता है|

म्यूचुअल फंड में निवेश से फायदे

  1. म्यूचुअल फंड की योजनाओं में कई व्यापक श्रेणियां शामिल हैं| हर व्यक्ति अपनी अनेक आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए फंड के विकल्पों को निवेश के लिए पसंद करता है|
  2. म्यूचुअल फंड योजनाओं की विभिन्न विभाग हैं, जिनमें इक्विटी फंड,ऋण निधि, तथा हाइब्रिड फंड शामिल हैं| इन योजनाओं में जब व्यक्ति किसी समस्या में नहीं है तो, वह डेट फंड में निवेश कर सकता है|
  3. वहीं जोखिम ग्रस्त व्यक्ति इक्विटी फंड को निवेश के लिए पसंद कर सकता है| हाइब्रिड फंड्स के अंतर्गत जोखिम-तटस्थ व्यक्ति निवेश कर सकते हैं|
  4. म्यूचुअल फंड के दो माध्यम बहोत आसान हैं| एसआईपी या व्यवस्थित निवेश योजना।
  5. एसआईपी म्यूचुअल फंड में निवेश करने से, व्यक्तियों को नियमित अंतराल पर छोटी मात्रा में निवेश करना अनिवार्य है|
  6. एसआईपी के माध्यम से, व्यक्ति विभिन्न उद्देश्यों को प्राप्त करने की कोशिश करते हैं जैसे घर खरीदना, वाहन खरीदना,सेवानिवृत्ति योजना, आदि शामिल हैं।
  7. SIP को लक्ष्य-आधारित निवेश के रूप में भी जाना जाता है। व्यक्ति म्यूचुअल फंड में न्यूनतम 500 रुपये का निवेश कर सकते हैं।
  8. म्यूचुअल फंड के पोर्टफोलियो में कई शेयर, ब्रांड और कई अन्य वित्तीय उपकरण हैं। एक परिणाम के रूप में, व्यक्ति विभिन्न म्यूचुअल फंड स्कीम में निवेश करके, विभिन्न उपकरणों में अपनी होल्डिंग को विविधता प्रदान कर सकते हैं। जिन व्यक्तियों में उच्च जोखिम है, वे अपने कुल निवेश का 60% और ऋण में शेष के लिए इक्विटी फंड में निवेश करना चुनते हैं।
  9. लिक्विडिटी म्यूचुअल फंड्स जिसके अंतर्गत व्यक्ति अपनी सुविधा के अनुसार किसी भी समय म्यूचुअल फंड से अपनी राशि आसानी से निकाल सकते हैं।
  10. कुछ म्यूचुअल फंडम्यूचुअल फंड में निवेश करना होगा आसान, जब रखेंगें इन बातों का ध्यान योजनाओं में निवेश, लिक्विड फंड योजनाओं के अंतर्गत, 30 मिनट में अपना पैसा बैंक खाते में जमा करवा सकते हैं। इसलिए म्यूचुअल फंड्स में लिक्विडिटी का स्तर अधिक है।

म्यूचुअल फंड में निवेश से नुकसान

  1. म्यूचुअल फंड में निवेश के फायदे के साथ सावधानी ना बरतने पर नुकसान भी होता है| कभी कभी रिटर्न की गारंटी नहीं होती है इसलिए, कुछ साधनों में निवेश से नुकसान की मात्रा अधिक होती है जबकि अन्य में कम होती है। इसके अलावा, म्यूचुअल फंड रिटर्न बाजार से जुड़े होते हैं।
  2. इक्विटी फंड अधिक लंबे समय के लिए रखे जाते हैं तो जोखिम की संभावना कम हो जाती है। एसआईपी मोड के माध्यम से निवेश करके, व्यक्ति अपनी पूरी हिस्सेदारी को जोखिम में नहीं डालते हैं। जिससे व्यक्ति इन तकनीकों के माध्यम से रिटर्न अर्जित कर सकते हैं।
  3. म्यूचुअल फंड में इससे जुड़ी लागत भी लाभ का निर्धारण करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। यदि संबंधित व्यय अधिक है, लाभ भी होता है और नुकसान भी |
  4. लॉक-इन अवधि कुछ म्यूचुअल फंड जैसे कि क्लोज एंडेड वाले और ईएलएसएस लॉक-इन अवधि के दौरान व्यक्ति अपने पैसे का उपयोग नहीं कर सकते हैं।
  5. इसलिए, व्यक्तियों को लॉक-इन अवधि पर निवेश करने से पहले सावधानी बरतनी चाहिए| क्यूँकि आवश्यकता पड़ने आप उस जमा राशि का उपयोग नहीं कर सकते हैं|