Arthgyani
होम > न्यूज > जानीये आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 के प्रमुख बिंदु

जानीये आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 के प्रमुख बिंदु

2020-21 में विकास दर 6-6.50 फीसदी रहने की संभावना

आर्थिक सर्वेक्षण के आंकड़ों ने मोदी सरकार ने 2024 तक इंडियन इकोनॉमी को 5 ट्रिलियन डॉलर की बनाने के लक्ष्य को झटका दिया है|संसद में पेश आर्थिक सर्वेक्षण के आंकड़ों के अनुसार इस वर्ष जीडीपी ग्रोथ करीब पांच फीसदी रहने का अनुमान है|जबकि अगले वर्ष कि GDP ग्रोथ रेट 6-6.5 फीसदी के बीच रहने की बात सरकार ने संसद में पेश अआर्थिक सर्वेक्षण में कही है|वित्तीय जानकारों के अनुसार 5 ट्रिलियन डालर की अर्थव्यवस्था के लिए 8% की GDP ग्रोथ जरूरी है|

राष्ट्रपति के अभिभाषण से शुरू हुआ बजट सत्र:

संसद के बजट सत्र का आगाज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के संयुक्त सत्र को संबोधन से हुआ| राष्ट्रपति ने सरकार की उपलब्धियां गिनाईं। अपने अभिभाषण में उन्होंने आतंकवाद, राम जन्मभूमि पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला, नागरिकता कानून, अनुच्छेद 370 और 35ए हटाने सहित कई मुद्दों पर बात की। जिसके बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में वित्त वर्ष 2020-21 के लिए आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया।

आर्थिक सर्वेक्षण के 5 प्रमुख बिंदु:

 

  1. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा संसद में प्रस्तुत 2020-21 की आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट के अनुसार विकास दर 6-6.50 फीसदी रहने की संभावना जताई गई है।
  2. सर्वे में ग्रोथ को बढ़ावा देने के लिए चालू वित्त वर्ष में वित्तीय घाटे के लक्ष्य से पीछे हटने की बात भी कही गयी है|
  3. ग्लोबल ग्रोथ में कमजोरी से भारत भी प्रभावित हो रहा है।
  4. वित्तीय सेक्टर की दिक्कतों के चलते निवेश में कमी की वजह से भी चालू वित्त वर्ष में ग्रोथ घटी।
  5. कृषि के मशीनीकरण से भारतीय कृषि वाणिज्यिक कृषि के रूप में बदलने की बात कही गयी|

बता दें कि बजट 2020-21 लोकसभा में शनिवार 1 फरवरी को प्रस्तुत किया जाएगा|सदन की कार्रवाई 11 बजे से शुरू होगी|