Arthgyani
होम > न्यूज > ज़िरोधा अब अमीर निवेशकों के पैसे का प्रबंधन भी करेंगे

ज़िरोधा अब अमीर निवेशकों के पैसे का प्रबंधन भी करेंगे

ज़िरोधा आज देश की सबसे बड़ी डिस्काउंट ब्रोकिंग फर्म है।

ज़िरोधा के नितिन कामत और निखिल कामत अब अमीर निवेशकों के पैसे का प्रबंधन भी करेंगे लेकिन मुनाफे में अपनी हिस्सेदारी भी लेंगे। ज़िरोधा आज देश की सबसे बड़ी डिस्काउंट ब्रोकिंग फर्म है। इसकी स्थापना नितिन कामत और निखिल कामत ने की है।
इकोनॉमिक टाइम्स के अनुसार निखिल कामत ने फोन पर दिए इंटरव्यू में कहा, “हमें लगता है कि बाज़ार में ऐसा कोई प्रोडक्ट नहीं है, जो ग्राहकों की वास्तविक ज़रुरत को समझता है। ” हमें समझना चाहिए कि हम पैसा सिर्फ तभी कमाते हैं, जब हमारे ग्राहक पैसा कमाते हैं। यदि वह 100 रुपये का निवेश करता है, तो उसके खाते में 100 रुपये ही जाते हैं। जब 100 रुपया आगे जाकर 110 रुपये बन जाता है, तो हम निवेशकों के मुनाफे में से एक रुपये का शुल्क लेंगे। ”

मुख्य बिंदु

  • जिरोधा देश की सबसे बड़ी डिस्काउंट ब्रोकिंग फर्म है।
  • जिरोधा अब अमीर निवेशकों के पैसे का प्रबंधन भी करेंगे।
  • इस प्रबंधन के एवज में निवेशकों के मुनाफे में से एक रुपये (1%) का शुल्क लेंगे।
  • ये प्रबंधन सिर्फ़ उन ग्राहकों के लिए ही होगा जो कम से कम $20 लाख तक का निवेश कर सकते हैं।
  • फंड का 60 फीसदी हिस्सा शेयरों में निवेश किया जा जाएगा।
  • 40 फीसदी लॉन्ग-शॉर्ट फंड में निवेश किया जाएगा
  • यह एक ओपन-एंडेड फंड होगा।

उन्होंने आगे ये भी कहा, हम ऐसे ग्राहकों के पास जा रहे हैं, जो कम से कम $20 लाख (करीब 14 करोड़ रुपये) तक का निवेश कर सकते हैं। ”  क्योंकि इस फंड में हमारा मार्जिन इतना कम है कि हम ज्यादा ग्राहकों को सेवा नहीं दे पाएंगे। कामत ने कहा कि फंड का 60 फीसदी हिस्सा शेयरों में निवेश किया जा जाएगा, जबकि 40 फीसदी लॉन्ग- शॉर्ट फंड में निवेश किया जाएगा

विदित हो कि यह एआईएफ की तीसरी श्रेणी का फंड है। यह फंड डेरिवेटिव पोजिशन भी ले सकता है और निवेश के लिए कर्ज भी ले सकता है। यह एक ओपन-एंडेड फंड होगा। इस फंड से वे हर साल 20 फीसदी का रिटर्न हासिल करने की इच्छा रखते हैं। इस फंड के बाद लगता है कि जिरोधा रिटेल केंद्रित ब्रोकरेज बनने के बाद अमीर निवेशकों पर जोर देने की तैयारी में हैं।