Arthgyani
होम > न्यूज > जेवर एयरपोर्ट

‘जेवर एयरपोर्ट’ का निर्माण करेगा ‘ज्यूरिख एयरपोर्ट’

'ज्यूरिख एयरपोर्ट' करेगा जेवर एयरपोर्ट का निर्माण

जेवर एयरपोर्ट के निर्माण को लेकर काफी समय से चर्चा चल रही है, इसके निर्माण के लिए टेंडर भी खोला गया। कुछ दिनों पहले जेवर एयरपोर्ट के निर्माण के लिए कई बड़ी कंपनियों ने टेंडर भरा जिनमें डायल, बंगलुरू एयरपोर्ट, ज्यूरिख एयरपोर्ट और अडाणी ग्रुप के नाम शामिल थे। इन कंपनियों में से एक का चयन 29 नवंबर को किया जाना चाहिए। इन सभी बड़ी कंपनियों में से एक कंपनी को चुना गया है। एजेंसी की खबर के मुताबिक़, उत्तर प्रदेश के मंत्रीमंडल ने जेवर एयरपोर्ट के निर्माण के लिए ‘ज्यूरिख इंटरनेशनल एयरपोर्ट’ को चुना है।

‘ज्यूरिख इंटरनेशनल एयरपोर्ट’ करेगा ‘जेवर एयरपोर्ट’ का निर्माण 

उत्तरप्रदेश के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बताया कि, “जेवर में बनने वाले ‘नोएडा इंटरनेशनल ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट’ के निर्माण के लिये प्राप्त निविदा में सबसे उपयुक्त पेशकश रखने वाली कम्पनी ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल को चुना गया है।” हांलांकि कंपनी ने सरकार के सामने प्रति यात्री 400.97 रुपए देने का प्रस्ताव पेश किया है। कैबिनेट मंत्री के अनुसार देश में पहली परियोजना है जिसमें शुरुआती निविदा बोली के दौरान किये गये संशोधनों के बाद तकनीकी दक्षता या वित्तीय निविदा प्रक्रिया में एक भी संशोधन की जरूरत नहीं पड़ी।

जेवर एयरपोर्ट निर्माण में करीब 29,560 करोड़ निवेश 

जेवर एयरपोर्ट के निवेश में करीब 29,560 करोड़ रुपये की लागत अनुमानित की जा रही है। 5,000 हेक्टेयर से भी ज्यादा क्षेत्र में एयरपोर्ट का निर्माण किया जायेगा, इसका निर्माण कार्य वर्ष 2020 के फरवरी महीने तक शुरू कर दिया जाएगा। फ़िलहाल निर्माण क्षेत्र में जमीन को यमुना अथॉरिटी और जिला प्रशासन के अधिकारियों की टीम द्वारा जमीन समतल करने का काम शुरू कर दिया गया है। इस तरह से एयरपोर्ट का निर्माण चार चरणों में किया जायेगा। जिसमें प्रथम चरण में 5000 करोड़ खर्च का अनुमान किया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश के नागर उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता ने बताया कि, “उत्तर प्रदेश विकास के लिए इतिहास का यादगार निर्णय है। जेवर न सिर्फ उत्तर प्रदेश बल्कि पूरे देश के लिये जरूरी है। इसके लिये जरूरी निविदा प्रक्रिया में कोई भी विलम्ब नहीं हुआ। इसने पूरे देश के सामने उदाहरण पेश किया है।”