Arthgyani
होम > न्यूज > शीर्ष 10

टॉप 10 में से 8 कंपनियों का मार्केट कैप 52,194 करोड़ रुपये बढ़ा

पिछले सप्ताह बाज़ार में जोरदार खरीदारी देखने को मिली।

पिछले सप्ताह बाज़ार में जोरदार खरीदारी देखने को मिली। देश की प्रमुख कंपनियों का बाज़ार पूंजीकरण बढ़ गया। स्थानीय शेयर बाज़ारों में व्यापक स्तर पर मजबूती की धारणा के बीच सेंसेक्स की शीर्ष 10 में से आठ कंपनियों का बाज़ार  पूंजीकरण(मार्केटकैप) 52,193.73 करोड़ रुपये बढ़ा।

आठ कंपनियों का मार्केट कैप बढ़ा

बाज़ार की मजबूती का सबसे ज्यादा फ़ायदा भारतीय स्टेट बैंक (SBI) और एचडीएफसी को हुआ। एसबीआई का बाज़ार पूंजीकरण 11,334.26 करोड़ रुपये बढ़कर 3,05,087.85 करोड़ रुपये और निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी होम लोन कंपनी HDFC का बाज़ार पूंजीकरण 10,492.7 करोड़ रुपये बढ़कर 3,96,791.39 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इसके अलावा बैंकिंग क्षेत्र की अन्य कंपनियों की भी बाज़ार पूंजीकरण में भारी बढ़ोतरी हुई। प्रमुख निजी बैंक आईसीआईसीआई का वैल्यूएशन 9,871.88 करोड़ रुपये सुधरकर 3,31,011.55 करोड़ रुपये, कोटक महिंद्रा बैंक 8,818.24 करोड़ रुपये बढ़कर 3,08,420.75 करोड़ रुपये, एचडीएफसी बैंक का 5,055.54 करोड़ रुपये मजबूत होकर 6,97,726.75 करोड़ रुपये और रिलायंस इंडस्ट्रीज का 2,852.62 करोड़ रुपये की वृद्धि के साथ 9,83,140.16 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।

FMCG कंपनी हिंदुस्तान यूनिलीवर का बाज़ार पूंजीकरण 2,576.12 करोड़ रुपये बढ़कर 4,40,777.38 करोड़ रुपये और आईटी सेक्टर की दिग्गज कंपनी इन्फोसिस का बाज़ार पूंजीकरण 1,192.37 करोड़ रुपये चढ़कर 2,96,367.29 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।

दो कंपनियों का मार्किट कैप गिरा

सेंसेक्स की टॉप 10 में से मात्र दो कंपनियों का मार्किट कैप गिरा। आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) की वैल्यूएशन 6,698.01 करोड़ रुपये से घटकर 7,70,252.01 करोड़ रुपये रह गयी। वहीँ दिग्गज एफएमसीजी कंपनी ITC का मार्केटकैप 1,557.16 करोड़ रुपये घटकर 3,02,747 करोड़ रुपये पर आ गया।

मार्किट कैप के आधार पर कंपनियों की क्रमवार स्थिति

मार्केटकैप के आधार पर रिलायंस इंडस्ट्रीज शीर्ष पर बनी रही। इसके बाद टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, एचडीएफसी, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, एसबीआई, आईटीसी और इन्फोसिस का स्थान रहा।

आलोच्य सप्ताह के दौरान बीते गुरुवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाज़ार पूंजीकरण 10 लाख करोड़ रुपए को पार कर गया। इस स्तर को छूने वाली यह पहली और एकमात्र भारतीय कंपनी है। हालांकि शुक्रवार को कारोबार के समाप्त होने तक कंपनी का बाज़ार पूंजीकरण 9,83,140.16 करोड़ रुपए पर आ गया।