Arthgyani
होम > व्यक्तिगत निवेश > सोना

दिवाली पर सोने में निवेश के आसान विकल्प

सोना खरीदने के आसान विकल्प

भारतीय संस्कृति में सोने का विशेष महत्व है|त्योहारों और पर्वों में भी सोने का ये महत्व समझ में आता है|सोने के आभूषण के बिना हर पर्व अधूरा है| हमारे यहाँ धनतेरस और अक्षय तृतीया  जैसे पर्व सोने की खरीद से जोडकर देखे जाते हैं|सोने की कीमत में प्रायः वृद्धि देखी जाती है|इसलिए सोना निवेश एवं बचत का सर्वप्रमुख विकल्प माना जाता है|दिवाली का लक्ष्मी पूजन सोने के बिना अधूरा माना जाता है|धनतेरस पर बढ़ती मांग के कारण सोना खरीदना मुश्किल हो जाता है| इस दिवाली अगर खरीदना है सोना तो हम बतायेंगे आपको सोना खरीदने के आसान विकल्प|

ज्वेलरी शॉप ही नहीं ई कामर्स वेबसाइट से भी खरीद सकते हैं सोना:

सोना खरीदने के लिए हम पारम्परिक रूप से सिर्फ ज्वेलरी शॉप का रुख करते हैं|बता दें अब  बैंक, गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों और ई-कॉमर्स वेबसाइटों से भी खरीदा जा सकता है सोना। भारत सरकार की ओर से सोने के सिक्के लांच किए जाते हैं, जिनके एक तरफ अशोक चक्र और दूसरी तरफ महात्मा गांधी की तस्वीर होती है। ये सिक्के पांच ग्राम और 10 ग्राम में उपलब्ध होते हैं।भारत में सोने के सिक्के 24 कैरेट में आते हैं|सोना खरीदने से पहले बीआईएस स्टैंडर्ड और हॉलमार्किंग का ध्यान रखना चाहिए।

गोल्ड आधारित सेविंग स्कीम में निवेश:

सोने की बचत स्कीम में निवेश भी एक अच्छा विकल्प है।इस स्कीम में प्रति माह एक निश्चित अवधि के लिए तय रकम जमा करके अवधि खत्म होने पर जमा किए गए मूल्य के बराबर सोना खरीद सकते हैं।इस स्कीम में निवेश से आपको बोनस रकम भी मिलती है।

ईटीएफ फंड से निवेश:

गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड के द्वारा भी सोने में निवेश किया जा सकता है|इसमें ट्रेडिंग के लिए डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट की जरूरत पड़ती है| ईटीएफ में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नेश्नल स्टॉक एक्सचेंज के जरिए निवेश होता है। इसके जरिये सोना खरीदना सोने के सिक्के की खरीदने की तुलना में सस्ता होता  है।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड :

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के रूप में  पेपर गोल्ड खरीदने का भी एक आसान विकल्प है|इसे सरकार द्वारा जारी किया जाता है।सरकार इन्हें खरीदने के लिए थोड़े-थोड़े समय पर विंडो खोलती है, जिसकी अवधि अक्सर दो से तीन महीने की होती है। निवेशक सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड  योजना के द्वारा बाजार मूल्य से सस्ता सोना खरीद सकते हैं।गोल्ड बॉन्ड की परिपक्वता अवधि आठ साल की होती है और इस पर सालाना 2.5 फीसदी का ब्याज मिलता है। बॉन्ड पर मिलने वाला ब्याज निवेशक के टैक्स स्लैब के अनुरूप कर योग्य होता है, लेकिन इस पर स्रोत पर कर कटौती (टीडीएस) नहीं होती है।

क्या होगी सोने की कीमत? 

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना के तहत सिर्फ 3,835 रुपये प्रति ग्राम पर सोना खरीद सकते हैं।अर्थात 10 ग्राम सोने की कीमत 38,350 रुपये होगी|गोल्ड बॉन्ड की ऑनलाइन खरीदने पर सरकार निवेशकों को 50 रुपये प्रति ग्राम की अतिरिक्त छूट देती है। ऑनलाइन सोना खरीदने पर निवेशकों को प्रति ग्राम सोना 3,785 रुपये का पड़ेगा। ऐसे में आपको 37,850 रुपये में 10 ग्राम सोना मिल जाएगा। जबकि सर्राफा बाजार में सोने की कीमत करीब 39000 रुपये प्रति दस ग्राम है।