Arthgyani
होम > न्यूज > औद्योगिक उत्पादन

देश की अर्थव्यवस्था मजबूत स्थिति में है: नायडू

विनिर्माण क्षेत्र में 3.9 प्रतिशत की गिरावट

सरकार द्वारा जारी किये गये ताजा आंकड़ों के मुताबिक देश में औद्योगिक उत्पादन में गिरावट आयी है|सोमवार को आयी ताजा रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि हो गयी है कि भारतीय अर्थव्यवस्था सुस्ती से प्रभावित है|एक ओर आंकड़े मंदी को प्रमाणित कर रहे हैं तो दूसरी ओर उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत स्थिति में बताया|

बता दें कि नायडू सोमवार को वाणिज्य और उद्योग क्षेत्र के संगठन एसोचैम द्वारा आयोजित जेआरडी टाटा स्मृति व्याख्यान समारोह को संबोधित कर रहे थे|अपने संबोधन में भारतीय अर्थव्यवस्था को संदर्भित करते हुए उन्होंने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था अपने सभी मूल मानकों पर मजबूत स्थिति में है।काबिलेगौर है उन्होंने ये बात ऐसे समय पर कही है जबकि आंकड़े मंदी की पुष्टि कर रहे हैं|बीते दिनों वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी कहा था भारतीय अर्थव्यवस्था गंभीर चुनौतियों से जूझ रही है|दूसरी ओर विपक्षी दल देश की अर्थव्यवस्था के मंदी की चपेट में होने के आधार पर सरकार पर लगातार निशाने लगाते रहे हैं।

उपराष्ट्रपति  ने सभी क्षेत्रों में सुधार और विकास की तीव्र गति का जिक्र करते हुये कहा, ‘‘यह हमारे लिए गर्व की बात है कि हमारे देश का कद विभिन्न क्षेत्रों में बढा है। भले ही यह आर्थिक क्षेत्र हो या भू-सामरिक, रक्षा, विज्ञान एवं तकनीक का क्षेत्र हो या अंतरिक्ष विज्ञान एवं प्रोद्यौगिकी का क्षेत्र, विश्व  ने भारतीय प्रतिभा का लोहा माना है।’’

भारतीय उत्थान एवं विकास पर टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा कि,विकास की गति से प्रत्येक नागरिक के जीवन में बेहतरी आने की जरूरत पर है|‘‘भारत के उत्थान से आशय प्रत्येक भारतीय के जीवन स्तर में बेहतरी आने से है। इसके फलस्वरूप न सिर्फ कारोबार करना आसान होना चाहिये बल्कि जीवन यापन भी सरल और सुगम होना चाहिये।’’

विपरीत हैं आंकड़े:

उपराष्ट्रपति के संबोधन के विपरीत अर्थव्यवस्था के आंकड़े निराशाजनक हैं|सरकार द्वारा सोमवार को जारी आंकड़ों के अनुसार विनिर्माण क्षेत्र में सितंबर महीने में 3.9 प्रतिशत की गिरावट आयी जबकि एक साल पहले इसी महीने में इसमें उत्पादन में 4.8 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी| सितंबर महीने में औद्योगिक उत्पादन में गिरावट दर्ज की गयी है|विनिर्माण क्षेत्र के खराब प्रदर्शन का असर औद्योगिक उत्पादन के आंकड़ों पर भी पड़ा है|विदित हो कि  औद्योगिक उत्पादन सूचकांक के आधार पर अनुमानित औद्योगिक उत्पादन में सितंबर 2018 में 4.6 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी थी|बिजली उत्पादन भी सितंबर महीने में 2.6 प्रतिशत घटा जबकि एक साल पहले इसी महीने में इसमें 8.2 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी| खनन क्षेत्र के उत्पादन में सितंबर में 8.5 प्रतिशत की गिरावट रही|बीते वर्ष सितंबर में इस क्षेत्र में 0.1 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी|