Arthgyani
होम > न्यूज > वेतन वृद्धि

नया साल वेतनभोगियों के लिए ख़ुशख़बरी ले कर आ सकता है

भारतीयों के वेतन में इजाफ़ा हो सकता है।

नया साल वेतनभोगियों के लिए ख़ुशख़बरी ले कर आ सकता है। उम्मीद की जा रही है कि भारतीयों के वेतन में इजाफ़ा हो सकता है। अमर उजाला के अनुसार सोमवार को जारी कॉर्न फेरी ग्लोबल सैलरी फॉरकास्ट की रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में 2020 में वेतनभोगियों की सालाना औसत वेतन वृद्धि 9.2 फीसदी होने की उम्मीद है। वहीं पांच फीसदी इजाफ़ा मजदूरी में भी होगा। कॉर्न फेरी इंडिया (CFI) के चेयरमैन एवं क्षेत्रीय प्रबंध निदेशक नवनीत सिंह ने कहा कि दुनियाभर में लोगों की वेतन वृद्धि प्रभावित हो रही है। इसके बावजूद भारत में इसकी वृद्धि दर काफी मजबूत है।

मुख्य बिंदु

  • नए साल में भारतीयों के वेतन में इजाफ़ा हो सकता है।
  • सालाना औसत वेतन वृद्धि 9.2 फीसदी होने की उम्मीद।
  • महंगाई समायोजन के बाद वास्तविक वेतन वृद्धि 5.1 फीसदी ही रहेगी।
  • पांच फीसदी इजाफ़ा मजदूरी में भी होगा।
  • अन्य एशियाई देशों के मुक़ाबले भारत में वेतन वृद्धि सबसे अधिक है।
  • धीमी गति से प्रगति करने वाली कंपनियां कम वेतन वृद्धि के साथ कर्मचारियों का चुनाव जारी रखेंगी।

रिपोर्ट के मुताबिक अन्य एशियाई देशों के मुक़ाबले भारत में वेतन वृद्धि सबसे अधिक है। CFI के एसोसिएट क्लाइंट पार्टनर रूपांक चौधरी ने कहा कि 2020 में भारत में औसत वेतन वृद्धि 9.2 फीसदी होगी लेकिन महंगाई के समायोजन के बाद वास्तविक वेतन वृद्धि 5.1 फीसदी ही रहेगी, हालाँकि ये भी वैश्विक औसत वेतन वृद्धि से अधिक है। अपनी बातों को विस्तार देते हुए उन्होंने ये भी कहा कि धीमी गति से प्रगति करने वाली कंपनियां अपने प्रदर्शन के आधार कम वेतन वृद्धि के साथ कर्मचारियों का चुनाव करना जारी रखेंगी।
इसके अलावा, कारोबार की बढ़ती लागत के दबाव को देखते हुए निश्चित वेतन में धीमी वृद्धि देखी जाती है, जबकि बेहतर प्रदर्शन करने वाले कर्मचारियों को प्रदर्शन प्रोत्साहन (अल्प और दीर्घकालिक) सहित कुल वेतन में एक स्थिर वृद्धि जारी रहेगी। अमर उजाला के अनुसार यह आंकड़ा 130 से अधिक देशों के 25,000 संगठनों के दो करोड़ से अधिक कर्मचारियों से बातचीत के आधार पर तैयार किया गया है।
मौजूदा आर्थिक स्थिति और सरकार की ओर से किए जा रहे प्रगतिशील सुधारों के साथ देशभर में सभी क्षेत्रों में सतर्क लेकिन आशा की भावना है। इस कारण वेतन में ऊंची वृद्धि जारी रहने की उम्मीद है।