Arthgyani
होम > न्यूज > बीएसएनएल

नवंबर के अंत तक 4जी निविदा जारी करेगा बीएसएनएल

अगले छह माह में 4जी सेवा लांच होगी

भारी वित्तीय घाटे से जूझ रही बीएसएनएल के उपभोक्ताओं को राहत देगी ये खबर|सरकारी दूरसंचार कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) अगले छह माह में 4जी सेवा को लॉन्च कर देगी। इसके लिए कंपनी 12 हजार करोड़ रुपये का खर्च करेगी। कंपनी के चेयरमैन पी के पुरवार ने  इकोनॉमिक टाइम्स को दिए इंटरव्यू में बताया कि कंपनी अपने उपकरणों को अपग्रेड करने में लगी है, जिसमें छह माह का समय लगेगा। इसके अलावा उन शहरों को भी चुना जा रहा है, जहां पर कंपनी सबसे पहले इन सेवाओं को लॉन्च करेगी। इसके लिए नवंबर के अंत तक टेंडर लाया जाएगा,क्योंकि इन सेवाओं को पूरे देश में शुरू करने में काफी वक्त लगेगा।

40  हजार कर्मचारीयों ने किया वीआरएस के लिये आवेदन:

सरकार ने पिछले महीने ही बीएसएनएल और एमटीएनएल के लिए 69 हजार करोड़ रुपये के पुनरुद्धार पैकेज का एलान किया था, जिसमें घाटे में चल रही दोनों कंपनियों का विलय, उनकी संपत्तियों को बेचना और कर्मचारियों को वीआरएस की पेशकश की शामिल था। इसके अंतर्गत कंपनी की 70-80 हजार कर्मचारियों को वीआरएस की पेशकश भी शामिल है।इस विषय पर सूचना देते हुए पुरवार ने कहा कि अभी तक कुल 40 हजार कर्मचारियों ने वीआरएस के लिए आवेदन किया है। हमारा लक्ष्य 70 से 80 हजार के बीच का है। इसके अलावा तीन हजार ग्रुप ए के अधिकारी भी वीआरएस के लिए आवेदन करेंगे।

4जी विस्तार के लिए नवंबर अंत तक निविदा:

सरकारी भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) 50,000 न्यू लाइनों के लिए नवंबर के अंत तक 4जी निविदा जारी करेगा। बीएसएनएल 50,000 साइटों पर 4जी विस्तार के लिए नवंबर अंत तक एक निविदा जारी करेगा।गौरतलब है कि कैबिनेट ने अक्टूबर में बीएसएनएल के पुनरुत्थान को मंजूरी दी थी।  दिसंबर अंत तक यह स्पेक्ट्रम प्राप्त कर लेने की स्थिति में जून 2020 तक सेवा शुरू कर देने का लक्ष्य है। सरकार की टर्नअराउंड योजना में बीएसएनएल/एमटीएनएल को 2016 की कीमतों पर  4जी सेवाओं के लिए स्पेक्ट्रम का आवंटन शामिल किया गया है, जिसकी कीमत सरकार द्वारा वहन की जायेगी। इस विषय पर जानकारी देते हुए बीएसएनएल के चेयरमैन व मैनेजिंग डायरेक्टर पी.के. पुरवार ने आईएएनएस से कहा था,”हम इस साल के अंत तक 4जी स्पेक्ट्रम की उम्मीद करते हैं। हम अगले महीने 50,000 ई-नोड्स क्षमता की निविदा जारी करेंगे।”पुरवार के अनुसार, “18 महीनों में 100,000 4जी साइटें ऑपरेशनल हो जानी चाहिए।