Arthgyani
होम > बाजार > पेट्रोल-डीजल

पेट्रोलियम मंत्री: पेट्रोल-डीजल के भाव में GST लाने की दरख्वास्त

प्राकृतिक गैस के खनन और उत्पादन के क्षेत्र में होगा 58 अरब डॉलर निवेश

केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने बताया कि पेट्रोल-डीजल के भाव में GST लागू करने की दरख्वास्त फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण से की गई| ध्यान दें कुछ दिनों पहले ही ATF (एविएशन टरबाइन फ्यूल) और प्राकृतिक गैस पर GST लगाने की पहल की गई साथ ही पेट्रोलियम उत्पादों पर भी GST की व्यवस्था शुरू की जाएगी| यह भी घोषणा की गई कि प्राकृतिक गैस के खनन और उत्पादन के क्षेत्र में 2023 तक 58 अरब डॉलर निवेश किया जायेगा| इसके अलावा गैस पाइप लाइन, टर्मिनलों और शहरों में गैस बुनियादी ढांचे के निर्माण क्षेत्र में 60 अरब डॉलर का निवेश होगा|

विदित हो, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में 2 साल पहले टैक्स में सुधार के लिए GST व्यवस्था शुरू की गई थी, लेकिन उस समय पेट्रोलियम क्षेत्र और पेट्रोलियम उत्पादों को GST के दायरे से बाहर रखा गया| अब पेट्रोलियम उद्योग की ओर से इसमें GST लागू करने की मांग की गई और उस पर सरकार निर्णय ले रही है| सरकार तेल आयात पर निर्भरता को कम करने के लिए 2022 तक पेट्रोल में 10 प्रतिशत इथनॉल मिलाने का लक्ष्य निर्धारित किया है| इस प्रक्रिया से कृषि क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा तो वहीं पर्यावरण अनुकूल ईंधन के इस्तेमाल को प्रोत्साहन मिलेगा|

वित्त मंत्री ने बताया कि, सरकार ऊर्जा क्षेत्र पर भी कई नए नियमों को ला रही है| शहरी क्षेत्र में गैस सप्लाई नेटवर्क से आने वाले समय में देश की 70 फीसदी आबादी को अल्प कार्बन उत्सर्जन वाली प्राकृतिक गैस उपलब्ध करायी  जायेगी| विदेशी निवेशकों को और निवेश करने का प्रोत्साहन देते हुए कॉर्पोरेट टैक्स को घटाने की भी घोषणा की गई|