Arthgyani
होम > न्यूज > सरकार के इस फैसले से पेट्रोल की कीमत हो सकती है कम

सरकार के इस फैसले से पेट्रोल की कीमत हो सकती है कम

सरकार मेथेनॉल ब्लेंडेड ईंधन को लाने की कोशिश में है।

सरकार पेट्रोल और डीज़ल को लेकर अहम फैसला लेने की जुगत में है। पेट्रोल डीज़ल की आये दिन बढ़ती कीमतों में सरकार के इस फैसले से 10 रूपये तक की कमी हो सकती है। अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रूपये में आई मजबूती के चलते पेट्रोल पिछले 10 दिन में 37 पैसे तक सस्ता हो गया है । राजधानी दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 74.63 रुपये प्रति लीटर है वहीँ डीज़ल 5 पैसे बढ़ कर 66.99 रुपये प्रति लीटर पर पहुँच गया है। सरकार अब लगातार मेथेनॉल ब्लेंडेड ईंधन को लाने की कोशिश में है कि जल्द से जल्द ये ईंधन बाज़ार में उपलब्ध हो सके। इस मेथेनॉल ब्लेंडेड ईंधन के बाज़ार में आने से कीमत तो कम होंगी ही होंगी  साथ ही इसके प्रयोग से 30% प्रतिशत तक प्रदूषण कम हो जायेगा। अगर फिलहाल पेट्रोल डीज़ल की कीमतों को देखें तो आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल के दाम बिना किसी बदलाव के 80.29 रुपये प्रति लीटर है और डीज़ल की कीमत 70.28 रुपये प्रति लीटर है । वहीँ कोलकाता में पेट्रोल के दाम 77.29 रुपये प्रति लीटर है और डीज़ल 69.40 रुपये प्रति लीटर है ।

मेथेनॉल ब्लेंडेड ईंधन

मेथेनॉल ब्लेंडेड ईंधन के इस्तेमाल से काफी फायदे हैं। ये ईंधन कीमत में भी कम है और इसके इस्तेमाल से प्रदूषण कम होगा । मेथेनॉल ब्लेंडेड ईंधन के आने से कच्चे तेल की खपत कम होगी जिसका आयात कम किया जा सकेगा जिससे देश को हर साल 5 हजार करोड़ रुपये की बचत होगी।  ज्ञात हो इन दिनों एथेनॉल ब्लेंडेड ईंधन लगभग 10 प्रतिशत इस्तेमाल में लाया जा रहा जिसकी लागत 42 रुपये प्रति लीटर है, जो कि बहुत ज्यादा है। जबकि मेथेनॉल की कीमत सिर्फ 20 रुपये प्रति लीटर है।  जाहिर है मेथेनॉल ब्लेंडेड ईंधन के इस्तेमाल से काफी बचत होगी। इकनोमिक टाइम्स की खबर के मुताबिक मेथेनॉल ब्लेंडेड ईंधन के इस्तेमाल से 2030 तक 100 अरब डॉलर की बचत की जा सकती है ।