Arthgyani
होम > न्यूज > बजट के मुख्य बिंदु 

बजट 2020 – देश के विकास और योजनाओं का आंकड़ा पेश हुआ

श्रीमती रमण ने कहा हम देश की जनता का सम्मान करते  हैं

आज संसद में अपने बजट भाषण में श्रीमती रमण ने कहम देश की जनता का सम्मान करते हा हैं। उन्होंने हमपर अपना भरोसा जताया है, इसलिए हम आज यहाँ तक पहुँच पायें है कि विश्व के उन्नत देशो की सूचि में भारत 5वे पायदान पर आ पहुंचा है। उन्होंने कहा कि बीते वर्षो में अनेक क्षेत्रों में हमने काफी सुधार को अपनाया है जिसका परिणाम अब दिखने लगा है। सबसे बड़ी बात कि इसके लिए हमें जनता का साथ मिला और विश्वास मिला

उन्होंने कहा हमारा बजट आय बढ़ाने को समर्पित है इसमें रोजगार व्यवसाय एवं तकनीकि को बढ़ावा दिया गया है। अल्पसंख्यक, पिछड़े और वंचित वर्ग को ध्यान में रखा गया है और उनकी आशाओं को समाहित किया गया है। बैंकों की हालात में सुधार हुआ और लोन में कमी आई है। साथ ही वित्त मंत्री जी ने स्वर्गीय अरुण जेटली को याद किया और उनके द्वारा  किये कार्यो की सराहना करते हुए उनके  योगदान  को याद किया।

बजट के मुख्य बिंदु

कर प्रणाली 

GST द्वारा एक देश एक कर का व्यवस्था और सपना पूरा है। फेसलेस कर भुगतान प्रक्रिया से  इंस्पेक्टर  राज ख़त्म हुआ। आकर्षक कर प्रणाली के कारण हर कमोडिटी दाम में गिरावट दर्ज़ हो सकी है। अतिरक्त करों के बोझ से जनता को छुटकारा मिला है। जिससे जनता को 1 लाख करोड़ का लाभ हुआ।

बीते 2 साल में 60 लाख नये कर दाता GST  से जुड़े वहीँ 105 करोड़ ई वे बिल GST से जोड़ा गया है। सबका साथ सबका विकास योजना का लाभ जनता को मिला है हर व्यक्ति को केंद्र सरकार से सीधा लाभ पहुंचा है।

5वी बड़ी अर्थव्यवस्था

हम विश्व की 5वी बड़ी अर्थव्यवस्था बन सके हैं यह हमारी सरकार की उपलब्धि है ऐसा वित्तमंत्री ने कहा। पूरे विश्व मे आज भारत की सराहना हो रही है यह हमारे लिए गौरव की बात है। हमारा कार्य काल सार्थक रहा है।

प्रधानमंत्री आवास योजना

वित्त मंत्री ने कहा प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत जनता को लाभ मिला है और निर्धन लोगों को आवास प्राप्त हो सका है।

रोजगार, आर्थिक विकास और सुरक्षा 

  1.  ये बजट 3 बिन्दुओं पर केन्द्रित है। रोजगार इंडिया, आर्थिक विकास, कैरिंग सोसाईटी।
  2. वित्त मंत्री ने  कहा जीवन की गुणवत्ता सुधरने के लिए सामाजित सुरक्षा के लक्ष्यों का बजट है। उन्होंने कश्मीरी कहावत का सहारा लेते हुए कहा – सों वतन गुलजार शालीमार .. मतलब हमारा  देश खिलते हुए शालीमार बाग़ जैसा है, कीचड़ में खिलते हुए कमल जैसा है, नौजवानों के गरम खून जैसा है। ये कहते हुए वित्त मंत्री ने लोगों के दिलों में ओज़ भरा है और एक रवानगी दी है।
  3.  सरकार किसानो को आय बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित कर रही है। 2022 तक 6.11 करोड़ किसानो को फसल बीमा योजना से जोड़ने का लक्ष्य है। प्रधानमंत्री किसान योजना, ग्राम सड़क योजना, तकनीकि, प्रोसेसिंग आदि सुविधाएँ उन्हें मुहैया करायी गयी गई और करायी जा रही है। सरकार का लक्ष्य है हर किसान सुखी और संपन्न हो।

जल समस्या समाधान

  1. जल सम्बन्धी समस्या से पीड़ित जनपदों का चुनाव कर उन्हें समस्या से मुक्त कराया  जा रहा है।
  2. 25  लाख किसान को पम्प सेट, खेतों वाले किसानो को सोलर ग्रिड, यूरिया का संतुलन के लिए जैविक खाद उपलब्ध कराई  गयी है और आगे भी सहायता जारी है।

किसानो के हित में

  1. केमिकल फ़र्टिलाइज़र का प्रयोग नियंत्रित हुआ है।  भूमि का सही इस्तेमाल के लिए 3 शब्द का उन्होंने सहारा लेते हुए कहा जो तमिलनाडु की एक महिला का कथन है।
  2. नाबार्ड वेयर हाउस, ग्राम संग्रहण स्थल किसानो की संग्रहण की शक्ति बढ़ाएगी। धन्य लक्ष्मी द्वारा लोन मुद्रा और नावार्ड किसानो को सहयोग कर रहे हैं।
  3. कृषि उड़ान एविअशन शुरू होगी, जिससे किसानो के अनाज को  दूर मंडियों तक पहुँच बन सकेगी जिसका उन्हें लाभ होगा। अगले वित्त वर्ष में  311 मिलियन टन अन्न उत्पादन का लक्ष्य है।
  4.  सोलर पम्प सोलर एनर्जी कम वर्षा वाले क्षेत्रों को दी जाएगी।
  5.  15 लाख करोड़ किसान कृषि कार्ड बनते गए ये किसानो के जीवन को सुचारू करने का सरकार का कदम है।
  6.  खुरपका रोग तथा पशुओं के अन्य रोग के निदान के लिए स्पेशल लक्ष्य है।  2025 तक पशु रोगों से भारत के पशुओं को मुक्त किया जायेगा।
  7.  खेती को 2.83 लाख करोड़ दिए जायेंगे, पंचायिती राज को 1.23 लाख करोड़ आवंटित।
  8. जल, स्वक्षता, स्वास्थ्य सरकार की प्राथमिकी पर है।
  9. 3.6 लाख करोड़ जल जीवन मिशन को दी जाएगी।
  10. 12 हज़ार 300 करोड़ स्वच्छ भारत मिशन पर ख़र्च किये जायेंगे ।

स्वास्थ्य योजना

  1. जन आरोग्य योजना, स्वच्छ भारत योजना, इन्द्रधनुष योजनाओं को अलग बजट दी जाएगी जिससे सेवाओं का लाभ सभी को मिल सके।
  2. जन औषधि केंद्र के मुफ्त और सस्ती दवा का लाभ लोगों को पहुंचा है।
  3.  जिन जनपदों में आयुष्मान योजना केंद्र नहीं है उन्हें वरीयता दी जाएगी। स्वस्थ प्रमुखता पर होगी।
  4. जनपद अस्पतालों में डॉक्टर की भर्ती  बढाई जाएगी।

एजुकेशन एंड स्किल

  1. एजुकेशन एंड स्किल को बढ़ावा दिया जा रहा है, इसके लिए 2030  तक सबसे ज़्यादा आवादी होगी ये वित्त मंत्री ने कहा।
  2.  विज्ञानं एवं तकनीक से जुड़े स्टूडेंट को डिग्री और डिप्लोमा के लिए नए विद्यालय खोले जायेंगे।
  3. इंटर्नशिप के लिए 1 वर्षीय व्यवस्था इंजिनियर के लिए की जाएगी।
  4. गुणवत्ता युक्त शिक्षा, उच्च शिक्षा, ऑनलाइन शिक्षा, मेडिकल शिक्षा पर ज़ोर दिया जायेगा।
  5. शिक्षक , नर्स, पैर मेडिकल स्टाफ की विदेशो में जरुरत को देखते हुए इन पर स्पेशल पाठ्य क्रम शुरू की जाएगी।
  6.  भाषा के अनुसार पाठ्य क्रम 99 हज़ार 300 करोड़ इस योजना को दी जाएगी ।

वित्त मंत्री ने कहा  ये सभी अति आवश्यक कार्य PPP मोड़ पर किया जायेगा। जनता की खुशहाली, महिलायों की सुरक्षा और बच्चों की सुरक्षा हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता है। किसी भी अपराध के लिये अब कोई गुंजाईश नहीं है। बजट भाषण के दौरान उन्होंने अपनी बातों पर ख़ास तवज्जो देते हुए जल, स्वास्थ्य, सुरक्षा और आय की बात की।