Arthgyani
होम > बाजार > बाजार की तेज चाल से निवेशक मालामाल

बाजार की तेज चाल से निवेशक मालामाल

निवेशकों की संपत्ति 1.87 लाख करोड़ रुपये बढ़ी

शेयर बाजार नये रिकार्ड बनाने की ओर मजबूती से आगे बढ़ा है|इस सफर के दौरान लगभग प्रत्येक कुछ नये कीर्तिमान बनते नजर आ रहे हैं|रिकार्ड मजबूती की ओर बढ़ते बाजार में निवेशकों का भरोसा बढ़ा है|जिसके कारण बिकवली फिलहाल थम गयी है|निवेश बाजार की मजबूती के साथ अपना निवेश बरकरार रखे हुए हैं|इस दौरान बैंकिंग तथा आईटी कंपनियों के शेयरों में ख़ासा उछाल आया है|भारी निवेश और लिवाली के कारण एनएसई और बीएसई ने अब तक कि सबसे बड़ी ऊंचाइयों को छु लिया है|गुरूवार के आंकड़ों की बात करें तो सेंसेक्स 109.56 अंक (0.27%) उछलकर रिकॉर्ड 41,130.17 पर बंद हुआ| जबकि निफ्टी 53.60 अंकों (0.44%) की तेजी के साथ रिकॉर्ड 12,154.30 पर बंद हुआ|

निवेशक हुए मालामाल:

वैश्विक मंदी और आर्थिक सुस्ती से बेहाल निवेशकों के चेहरे पर रौनक आई है| मोदी सरकार द्वारा कॉर्पोरेट टैक्स की कटौती एवं एफफीआई के नियमों में बदलाव जैसे क़दमों के परिणाम आने शुरू हुए हैं|एफपीई नियमों में आयी नरमी के कारण विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों का निवेश स्थिर हुआ है|विदित हो कि पिछले दो दिनों में सेंसेक्स 308.87 अंक मजबूत हुआ।विभिन्न क्षेत्रों में कारोबार करने वाली कंपनी का मिडिल कैप  10,01,555.42 करोड़ रुपये पर जा पहुंचा।इस दौरान सेंसेक्स के 30 शेयरों में से 17 लाभ में रहे।जबकि बीएसई में पंजीकृत 1,283 कंपनियों के शेयरों में तेजी रही, जबकि 1,201 शेयर नुकसान में रहे। 196 अन्य कंपनियों के शेयरों भाव अपरिवर्तित रहे।शेयर बाजार के इस दो दिनों के तेज प्रदर्शन से निवेशकों की संपत्ति 1.87 लाख करोड़ रुपये बढ़ी है। गुरुवार कारोबार समाप्त होने के बाद बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण (एम-कैप) बीएसई में 1,87,370.56 करोड़ रुपये बढ़कर 1,55,57,484.15 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।

 रिलायंस ने रचा इतिहास :

गुरुवार के कारोबार में  रिलायंस इंडस्ट्रीज ने रचा नया इतिहास रही। कंपनी के शेयर में आई लगातार मजबूती से उसका बाजार पूंजीकरण 10 लाख करेाड़ रुपये को पार कर गया।RIL के शेयर 0.65 फीसदी की मजबूती के साथ 1,579.95 रूपए पर बंद हुए|हालांकि कारोबारी दिन में एक बार कम्पनी के शेयरों ने 1,584 रुपये के उच्च स्तर को भी छुआ लिया था| रिलायंस अगर इसी वृद्धि दर से आगे बढ़ता है तो साल भर में कंपनी की मार्केट वैल्यू ‌12 लाख करोड़ रुपये हो सकती है|बता दें जनवरी 1991 में स्थापना के बाद से पिछले 30 साल में कंपनी की मार्केट वैल्यू में 60 हजार प्रतिशत का इजाफा हुआ है|