Arthgyani
होम > बाजार > घरेलू तेल-तिलहन

बाजार में घरेलू तेल-तिलहन के भावों में मजबूती

सरसों के भाव 20 रुपये से बढ़कर 4,320 से 4,325 रुपये क्विंटल दर्ज हुआ

स्थानीय बाजार में घरेलू तेल-तिलहन के भावों में मजबूती रही|जिसमें सरसों के तेल के भावों में हल्की मजबूती दर्ज हुई है| मांग के बढ़ने से खाद्य तेलों के 10 से 15 रूपये जितने भाव बढ़े हैं| एजेंसी की खबर के अनुसार सरसों का स्टॉक कम है इसलिये भाव में बढ़ोत्तरी हुई है| सरसों के भाव 20 रुपये से बढ़कर 4,320 से 4,325 रुपये क्विंटल दर्ज हुआ है।

लेकिन बाजार शुल्क, बाजार खर्च, और भराई आदि का खर्च हटा दिया जाए तो 42 प्रतिशत सरसों का मूल्य कम ही होगा। राजस्थान में भरतपुर, टोंक, दौसा में खुले में सरसों का भाव 4,100 से 4,150 रुपये क्विंटल से बिक रहा है। वहीं लातूर में सोयाबीन 3,600 से 3,650 रुपये और सूरजमुखी का भाव 4,000 रुपये क्विंटल दर्ज हुआ है।

बाजार सूत्रों के अनुसार स्थानीय तेल-तिलहन बाजार में पामोलिन तेल का भाव दिल्ली में जीएसटी भुगतान के साथ 8,000 रुपये क्विंटल पर स्थिर रहा जबकि पामोलिन कांडला 7,300 रुपये दर्ज हुआ। सोयाबीन डीगम 7,610 रुपये पर दस रुपये के भाव से ऊंचा रहा।

तिलहन, खाद्य-अखाद्य तेलों के भाव भी मजबूत रहें| जो कि इस प्रकार रहे- वनस्पति घी का भाव 950 – 1,330 रुपये प्रति रुपये प्रति क्विंटल रहा|जबकि टिनमूंगफली मिल डिलिवरी का भाव गुजरात राज्य में 9,750 रुपये रहा| मूंगफली साल्वेंट रिफाइंड 1,725 – 1,770 रुपये है| सरसों की पक्की घानी- 1,380 – 1,550 रुपये और प्रति टिनसरसों की कच्ची घानी- 1,435 – 1,575 रुपये भाव रहा|

खाद्य सोयाबीन तेल का प्रतिटिन डिलिवरी दिल्ली में 8,650 रुपये था| सोयाबीन मिल डिलिवरी इंदौर में भाव 8,450 रुपये रहा| पामोलीन ऑइल का कांडला में बिना जीएसटी के भाव 7,300 रुपये के दर्ज हुआ|नारियल तेल का भाव 2,550-2,600 रुपये रहा|