Arthgyani
होम > न्यूज > अर्थव्यवस्था समाचार > आर्थिक मंदी

बुनियादी उद्योगों के उत्पादन में 5.2% की गिरावट

संयुक्‍त सूचकांक सितंबर, 2019 में 120.6 अंक रहा

आर्थिक मंदी का असर भारतीय अर्थव्यवस्था के अहम उद्योगों पर साफ़ नजर आने लगा है| मंदी की मार से बेजार अहम उद्योगों के उत्पादन में गिरावट आ गयी है|वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय की तरफ से जारी ताज़ा आकड़ों के मुताबिक अप्रैल-सितंबर, 2019-20 में आठ कोर उद्योगों का संयुक्‍त सूचकांक सितंबर, 2019 में 120.6 अंक रहा, जो सितम्‍बर 2018 में दर्ज किए गए सूचकांक के मुकाबले 5.2 प्रतिशत कम है| आठ कोर उद्योगों में से सात उद्योगों में इस साल सितम्बर में पिछले साल के सितम्बर के मुकाबले गिरावट दर्ज़ हुई है|

बता दें कोयला, बिजली, सीमेंट, उर्वरक, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस जैसे अहम सेक्टर अर्थव्यवस्था में सर्वप्रमुख माने जाते हैं|इनके प्रदर्शन से अर्थव्यवस्था सीधे तौर पर प्रभावित होती है|सरकार द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार आठ बुनियादी उद्योगों का उत्पादन सितंबर में 5.2 प्रतिशत घट गया है| बुनियादी क्षेत्र के आठ उद्योगों में से सात के उत्पादन में सितंबर में गिरावट आई है| बृहस्पतिवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार सितंबर, 2018 में बुनियादी उद्योगों का उत्पादन 4.3 प्रतिशत बढ़ा था| समीक्षाधीन महीने में कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, सीमेंट, इस्पात और बिजली क्षेत्र का उत्पादन घट गया|जबकि  इस दौरान उर्वरक क्षेत्र का उत्पादन 5.4 प्रतिशत बढ़ा|चालू वित्त वर्ष की अप्रैल से सितंबर की अवधि में बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर घटकर 1.3 प्रतिशत रह गई|जो कि  पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में यह 5.5 प्रतिशत रही थी|

सरकारी आकड़ों के मुताबिक सितम्‍बर, 2019 में कोयला उत्‍पादन सितम्‍बर, 2018 के मुकाबले 20.5 प्रतिशत घट गया|सितम्‍बर, 2019 के दौरान कच्‍चे तेल का उत्‍पादन सितम्‍बर, 2018 की तुलना में 5.4 प्रतिशत गिर गया| जबकि इस दौरान प्राकृतिक गैस का उत्‍पादन 4.9 प्रतिशत गिर गया|गिरावट पेट्रोलियम रिफाइनरी उत्‍पादों के उत्‍पादन में भी दर्ज़ की गयी है| सितम्‍बर, 2019 के मुकाबले सितम्‍बर, 2018 में ये 6.7 प्रतिशत गिर गया| सितम्‍बर, 2019 में इस्‍पात के उत्‍पादन में भी 0.3 प्रतिशत की मामूली गिरावट दर्ज़ की गयी है, जबकि इस दौरान सीमेंट के उत्‍पादन में 2.1 प्रतिशत कमी आयी| सितम्‍बर, 2018 के मुकाबले इस साल सितम्‍बर में  बिजली का उत्‍पादन 3.7 प्रतिशत गिर गया|