Arthgyani
होम > न्यूज > सरकारी बैंकों

अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए बैंकों ने 81,781 करोड़ रुपये के ऋण दिए

बैंकों का लोन मेला 21-25 अक्टूबर तक आयोजित रहेगा

मंदी के इस दौर को ख़त्म करने के लिए सरकारी बैंकों द्वारा लोन मेला आयोजित किया गया है|यहआयोजन भारत की अर्थव्यवस्था को गति देने में सहायक है|सरकारी बैंकों द्वारा 81,781 करोड़ रुपये ऋण में दिए हैं|भारत में कुल 400 जिलों में लोन मेले का आयोजन किया जाएगा|यह मेला फेस्टिवल सीजन दीपावली के पहले शुरू किया जायेगा, जो कि 21-25 अक्टूबर तक आयोजित रहेगा|

बाते दें, लोन मेले का मुख्य उद्देश्य है कि सुस्ती से जूझ रही भारत की अर्थव्यवस्था को तेजी से गति प्रदान करना|प्रथम चरण में बैंकों ने लोगों को ऋण देने के लिए भारत में 250 जिलों में लोन मेला लगाया था। मेले के प्रथम चरण का आयोजन 1- 9 अक्टूबर तक किया गया था जिसके अंतर्गत नौ दिनों में सरकारी बैंकों द्वारा लोन मेले के माध्यम से नए बैंकों को 34,342 करोड़ रुपये का कर्ज दिया गया। लोन मेले के दौरान ग्राहकों में काफी दिलचस्पी देखी गई|लोन बांटने की प्रक्रिया सरकारी निर्देशकों के निरिक्षण में की गई, आगे भी यह प्रक्रिया रहेगी|

विदित हो कि निजी बैंकें भी कई स्कीमों को ला रही हैं, एचडीएफसी ने फेस्टिवल सीजन को मद्दे नजर रखते हुए कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) के तहत फाइनेंशियल स्कीम लॉन्च की है| HDFC की ये ऑफर ग्रामीणजनों के लिए त्योहारी सीजन में काफी फायदेमंद रहेगी| एचडीएफसी करीब 1000 ब्रांड पर 10 फीसदी डिस्काउंट ऑफर दे रही है|इस ऑफर से ग्राहक डिस्काउंट, कैशबैक और रिवार्ड प्वाइंट ऑफ लाइन के साथ ऑनलाइन हासिल कर सकेंगे। यहऑफर तीन माह तक रहेगी।

सीएसी एक डिजिटल इंडिया प्रोग्राम है, जो की भारत सरकार के अंतर्गत कार्य करता है।