Arthgyani
होम > न्यूज > टेक्नोलॉजी > एप डेवलपर

भारतीय ऐप डेवलपर से चीन को भरोसा और उम्मीदें

चीन की हुवावे कंपनी ने भारतीय एप डेवलपर के लिये एक अरब डॉलर के कोष की पेशकश की है.

भारतीय ऐप डेवलपर के लिये चीन की हुवावे कंपनी ने एक अरब डॉलर के कोष की पेशकश की है। स्मार्टफोन कंपनी हुवावे ने भारतीय ऐप डेवलपर पर भरोसा जताते हुए, गूगल मोबाइल सर्विस की तरह अपनी सुविधा तैयार करने को लेकर बुधवार को एक अरब डॉलर के कोष की पेशकश की है ।

ये फैसला हुवावे ने अमेरिका के प्रतिबंधों से निकलने के प्रयासों के तहत किया है। अमेरिका की मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम कंपनियां डेवलपरों से उनके ऐप को अपने प्लेटफॉर्म पर जगह देने के लिये शुल्क वसूलते हैं। यही वजह है कि चीन की टेलीकॉम कंपनियों ने अब भारत की तरफ अपना रुख किया है साथ ही उन्हें भारतीय ऐप डेवलपरों की सक्षमता पर यकीन है।
न्यूज़ एजेंसी से मिली ख़बरों के अनुसार हुवावे और उसके सब-ब्रांड ऑनर इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (कंज्यूमर बिजनेस) चार्ल्स पेंग ने ऐप डेवलपर को 17,000 डॉलर तक का भुगतान करने की पेशकश करते हुए कहा कि “हमने घोषित किया है कि हम अपनी ऐप गैलरी में ऐप उपलब्ध कराने के लिये डेवलपर को भुगतान करेंगे। यदि वे गूगल मोबाइल सर्विस के बिना कोई ऐप उपलब्ध कराते हैं तो उन्हें अतिरिक्त प्रोत्साहन दिया जायेगा। यदि वे अपने ऐप को हुवावे मोबाइल सर्विस के साथ जोड़ते हैं तो प्रोत्साहन की रकम और बढ़ायी जा सकती है।

क्या है हुवावे और ऑनर की मंशा

कंपनी ऐप को हुवावे मोबाइल सर्विस के साथ जोड़ने पर 20,000 डॉलर के प्रोत्साहन की राशि के लिए तैयार है। इसके लिए हुवावे भारत के 150 ऐप डेवलपर से इस बारे में बातचीत कर रही है। हालाँकि कुछ भारतीय ऐप पहले ही हुवावे को अपनी सर्विस दे रहे हैं जिनमें मेक माय ट्रिप (make my trip) और गाना (Gaana) जैसे ऐप शामिल हैं।
चार्ल्स पेंग ने कहा, “हम एंड्रॉयड पर काम जारी रखना चाहते हैं और जल्द ही इस ऑपरेटिंग सिस्टम पर एक नया स्मार्टफोन लांच करेंगे। उनका कहना है हमारी मोबाइल सर्विस उन फोन को भी सपोर्ट करेगी जिसमें गूगल मोबाइल सर्विस की सुविधा नहीं है। इससे हमारे यूजर को एक नया विकल्प मिलेगा।”

ज्ञात हो कि इस साल फरवरी में अमेरिका ने हुवावे को हार्डवेयर या सॉफ्टवेयर बेचने पर रोक लगा दी थी, परिणामतः हुवावे और ऑनर मोबाइल फोन में गूगल मोबाइल सेवा के उपयोग को लेकर अनिश्चितता बन गयी है।