Arthgyani
होम > न्यूज > भारती एयरटेल ने रिलायंस कम्यूनकेशन (Rcom) पर लगाया सबसे बड़ा दांव!

भारती एयरटेल ने रिलायंस कम्यूनकेशन (Rcom) पर लगाया सबसे बड़ा दांव!

9500 करोड़ रूपए की बोली लगाकर सबसे बड़ी बीडर बनी भारती एयरटेल

टेलिकॉम ऑपरेटर भारती एयरटेल ने कर्ज के जाल में फंसे अनिल अंबानी की रिलायंस कम्यूनकेशन (Rcom) की संपत्तियों के लिए सबसे बड़ी बोली लगाई है| भारती एयरटेल 9500 करोड़ रूपए की बोली लगाकर सबसे बड़ी बीडर बनी| रिलायंस कम्युनिकेशन के नीलामी की बोली में शामिल संपत्तियों में स्पेक्ट्रम, मोबाइल टावर, ऑप्टिकल फाइबर, डाटा सेंटर और सभी संपत्तियां हैं| कंपनी द्वारा मंगाई गई बोलियों में भारती एयरटेल के अलावा अन्य पक्ष VFSI होल्डिंग Pte. Ltd और UV Asset Reconstruction Co. Ltd ने भी अपनी बीडिंग डाली है|

मुकेश अंबानी के रिलायंस jio ने खुद को रखा बीडिंग से दूर

विदित हो की शुरुआत में जिस कंपनी का रिलायंस कम्यूनकेशन के अधिग्रहण में सबसे ज्यादा नाम आ रहा था वह कंपनी थी रिलायंस जिओ| मगर अंतिम समय में जिओ ने और समय की मांग करते हुए बीडिंग में हिस्सा नहीं लिया| जबकि जिओ की समय की मांग को मानते हुए CoC (कमिटी ऑफ़ क्रेडिटर्स) ने और समय दिया था| मगर jio ने उसके बाद भी अंतिम समय तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दिखाई| ज्ञात हो की jio और Rcom की वार्ता पिछले साल से ही चल रही थी और jio, Rcom के 43000 टावर और 178000 रूट किलोमीटर के ऑप्टिक फाइबर के अधिग्रहण के लिए तैयार भी हो गई थी मगर लेनदारी बाकायों को लेकर समझौता नहीं होने की वजह से jio ने इस डील से दूरी बना ली|

वहीं पूर्व में Rcom का डाटा सेंटर और ऑप्टिकल फाइबर खरीदने में दिलचस्पी दिखाने वाले ‘I SQUARED CAPITAL’ भी बीडिंग से दूर रहा| सूत्रों की माने तो CoC बीडिंग को कभी भी सार्वजनिक कर सकती है|

विदित हो की बीडिंग डालने की अंतिम तारीख पहले 15 नवम्बर थी जो की बाद में 25 नवम्बर हो गई| इसके पीछे वजह jio द्वारा समय की मांग को मानी गई, जो CoC ने प्रदान भी की थी|

गौरतलब है की रिलायंस कम्यूनकेशन (Rcom) ने अपनी सारी संपत्तियों को नीलामी के लिए प्रस्तुत किया है, जिसमें से 122 mhz का स्पेक्ट्रम जिसकी अनुमानित कीमत 14000 करोड़ रूपए, रिलायंस कम्यूनकेशन के टावर जिसकी कीमत 7000 करोड़ रूपए, ऑप्टिकल फाइबर की कीमत 3000 करोड़ रूपए और डाटा सेंटर के लिए 4000 करोड़ रूपए का अनुमानित मूल्य है|

कंपनी पर 86,187.58 करोड़ रूपए का है बकाया

Rcom के लेनदारो में चाइना डेवलपमेंट बैंक, SBI, LIC, बैंक ऑफ़ बडोदा, एक्सिम बैंक ऑफ़ चाइना समेत कुल 41 लेनदार हैं| अगर कंपनी के उपर बकायों की बात करें तो कंपनी पर कुल 86,187.58 करोड़ रूपए का बकाया है, फाइनेंसियल क्रेडिटर्स के ही अकेले 49,193.46 करोड़ रूपए है| डिपार्टमेंट ऑफ़ टेलीफोन के स्पेक्ट्रम का 28,837 करोड़ रूपए भी Rcom पर बकाया है|

NCLT (National Company Law Tribunal) के आर्डर के मुताबिक रेजुलेशन प्रोफेशनल (Resolution Professional-RP) की यह प्रक्रिया जनवरी 2020 से पूर्व कर लेनी है|