Arthgyani
होम > न्यूज > महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल

महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेस जारी करेगी डिबेंचर

कंपनी कुल 310 करोड़ रुपये डिबेंचर से जुटाएगी।

महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेस को गैर-परिवर्तनीय डिबेंचर जारी करने के लिए कंपनी पंजीयक की मंजूरी मिल गयी है। इसके जरिये कंपनी 310 करोड़ रुपये जुटाएगी। ज्ञात हो कि कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेस गैर-बैकिंग वित्तीय कंपनी है

सोमवार को कंपनी ने शेयर बाजार को यह जानकारी दी।  कंपनी ने बताया कि इसके लिए प्राधिकृत समिति ने कंपनी को 3,100 सुरक्षित भुनाने योग्य गैर-परिवर्तनीय डिबेंचर जारी करने की अनुमति दे दी है। प्रत्येक डिबेंचर का अंकित मूल्य 10,00,000 रुपये होगा। इस तरह कंपनी कुल 310 करोड़ रुपये जुटाएगी। इन डिबेंचरों की परिपक्वता तिथि तीन फरवरी 2023 होगी।

मुख्य बिंदु 

  • महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेस गैर-परिवर्तनीय डिबेंचर जारी करेगी
  • सोमबार को कंपनी पंजीयक की मंजूरी मिल गयी है।
  • इसके जरिये कंपनी 310 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य
  • प्रत्येक डिबेंचर का अंकित मूल्य 10,00,000 रुपये होगा।
  • इन डिबेंचरों की परिपक्वता तिथि तीन फरवरी 2023 होगी।
  • बड़ी कंपनियों द्वारा पब्लिक से पैसे उधार लेने के लिए डिबेंचर एक माध्यम है।
  • डिबेंचर-धारकों को कोई वोटिंग अधिकार नहीं होता।
  • डिबेंचर-धारक द्वारा स्वतंत्र रूप से अहस्तांतरणीय हैं।

डिबेंचर एक दस्तावेज है जो ऋण सृजित करता है या उसे स्वीकार करता है। कारपोरेट जगत  में यह शब्द, पैसे उधार लेने के लिए बड़ी कंपनियों द्वारा प्रयुक्त मध्यम से दीर्घावधि ऋण लिखत  के लिए इस्तेमाल होता है। कुछ देशों में इस शब्द को बांड ऋण स्टॉक  या नोट के लिए अंतर्बदल तौर पर उपयोग किया जाता है।

आम तौर पर डिबेंचर, डिबेंचर-धारक द्वारा स्वतंत्र रूप से अहस्तांतरणीय हैं। डिबेंचर-धारकों को कोई वोटिंग अधिकार नहीं होता और उनको प्रदत्त ब्याज, कंपनी की वित्तीय विवरणियों में लाभ के प्रति प्रभार होता है।