Arthgyani
होम > म्यूच्यूअल फंड > म्युचुअल फंड

म्युचुअल फंड में निवेश आसान और उपयोगी है

म्युचुअल फंड में निवेश के 6 प्रमुख लाभ

अधिकांश निवेशकों के मन में ये प्रश्न होता है कि कहां निवेश करें?या निवेश का सबसे अच्छा विकल्प क्या है?निवेशक की मुख्य चिंता यह होती है कि कौन सा निवेश उन्हें बेहतर रिटर्न देगा?इक्विटी में निवेश उच्च लाभ के साथ ही जोखिम पूर्ण होता है|जबकि बांड एफडी जैसे अन्य पारम्परिक माध्यम एक निश्चित किंतु न्यूनतम रिटर्न देते हैं|इन परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए ही निवेश का सबसे अच्छा विकल्प है म्युचुअल फंड|आज जानते हैं म्युचुअल फंड (Mutual Fund) में निवेश के 6 प्रमुख लाभ|

म्युचुअल फंड में निवेश आसान और उपयोगी है

निवेश की विविधता:

जिन निवेशकों के पास शोध करने के लिए पर्याप्त क्षमताएं और समय नहीं है उन लोगों के लिए  म्यूचुअल फंड के माध्यम से निवेश उपयुक्त होता है|म्युचुअल फंड की विविधता निवेशक को निवेश के अतिरिक्त विकल्प प्रदान करती है|उदाहरण के लिए समझें तो निवेशक पूंजी वृद्धि के लिए इक्विटी आधारित म्युचुअल फंड में निवेश करते हैं|जबकि पूंजी सुरक्षा व नियमित आय के लिए डेट आधारित फंड्स में निवेश अधिक उपयुक्त होता है|अतः  निवेशक अपनी विशिष्ट परिस्थिति व उद्देश्य के आधार पर उपयोगी फंड चुन सकते हैं।

उपयोगी धन प्रबंधन:

म्युचुअल फंड में निवेशों के प्रबंधन के लिए फंड मैनेजर निर्धारित किये जाते हैं|म्यूचुअल फंड कंपनियां भिन्न-भिन्न उद्देश्यों पर आधारित फंड्स के अनुसार पेशेवर मैनेजर नियुक्त करती हैं| ये मैनेजर निवेशित पूँजी की सुरक्षा और वृद्धि का पूरा ध्यान रखते हैं|

पारदर्शी व्यवस्था:

म्यूचुअल फंड कंपनियां कागजी कार्रवाई सहित सभी प्रशासनिक गतिविधियों का प्रबंधन करती हैं। नेट एसेट वैल्यू (एनएवी) और खाता विवरणों के संयोजने के माध्यम से निवेश पोर्टफोलियो की प्रगति का लेखांकन व रिपोर्टिंग को भी संभव करती हैं।जिन लोगों को अपने भविष्य की जरूरतों के लिए निवेश की जरूरत है म्यूचुअल फंड उनके लिए बहुत सुविधाजनक है। पेशेवरों की एक टीम धन का प्रबंधन करती है और उनकी दुनिया के कार्यों में शामिल हुए बिना निवेशक पारदर्शिता एवं विशेषज्ञता के लाभों का आनंद ले सकते हैं।

जोखिम रहित स्टॉक आधारित निवेश:

उच्च जोखिम को देखते हुए निवेशक सीधे तौर पर शेयर बाजार में निवेश से घबराते हैं|शेयर आधारित  निवेश के लिए फंड प्रबंधन के द्वारा म्यूचुअल फंड की सहायता लेना अधिक उपयुक्त होता है।जब आप म्यूचुअल फंड के माध्यम से शेयर में निवेश करते हैं तो आप पेशेवर मैनेजरों की सहायता से अप्रत्यक्ष रूप से निवेश करते हैं।जिसके लिए आप एक छोटा शुल्क देकर फंड मैनेजमेंट कंपनी की सेवाएं लेते हैं। इन सेवाओं में न केवल विभिन्न निवेशों के शोध, चयन और खरीद-बिक्री सबकुछ शामिल है|इस प्रकार आप न्यूनतम जोखिम के साथ शेयर निवेश का लाभ प्राप्त करते हैं|

निवेश और निकासी में लचीलापन:

म्यूचुअल फंड की संरचना में निवेश और निकासी के लचीलेपन का विशेष ध्यान रखा जाता है|उदाहरण के लिए निवेश के लिए एसआईपी एवं एकमुश्त निवेश दोनों सुविधाएँ उपलब्ध हैं|एसआईपी के माध्यम से सिर्फ 500 रूपये से निवेश की छूट म्युचुअल फंड की बड़ी विशेषता है|इसी प्रकार का लचीलापन निवेशित धन की निकासी में भी मिलता है|ध्यान रहे किसी म्यूचुअल फंड योजना में धन निवेश होता है और ना कि लॉक,और यह हमेशा आपका बना रहता है। सिर्फ इसका प्रबंधन एक पेशेवर फंड मैनेजर द्वारा  किया जाता है।

आसान निकासी:

म्युचुअल फंड में निवेशित धन आप हमेशा आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। आप अपने निवेश को अंशतः या पूर्णतः रिडीम कर सकते हैं। यहां तक कि अपने बैंक खाते में अपनी इच्छा के अनुसार हर माह, हर तिमाही नियत तारीख पर नियत राशि को ट्रांसफर करने के लिए आप म्यूचुअल फंड कंपनी को निर्देश देकर, रिडम्पशन तारीखों को भी पहले से निर्धारित कर सकते हैं। आप अपने निवेश को एक म्यूचुअल फंड से उसी म्यूचुअल फंड कंपनी द्वारा प्रबंधित दूसरे फंड में ट्रांसफर करने का चुनाव भी कर सकते हैं। sip की तरह swp(एसडब्ल्यूपी) systematic withdrawl plan निकासी का बेहतरीन और आसान विकल्प है|

अतः आप भी  अपनी पसंद की म्यूचुअल फंड स्कीम में निवेश करें और लचीलेपन, पारदर्शिता और तरलता का आनंद लें। दूसरे शब्दों में कहें तो पेशेवर मैनेजरों की देखभाल में रहते हुए, एक बेहतर निवेश अनुभव देते हैं म्युचुअल फंड ।निवेश को आसानी से समझाने के लिए खाता विवरण भी मिलता है जो आपके निवेश को  कायदे से दस्तावेजित रखता है।