Arthgyani
होम > न्यूज > यूको बैंक का तीसरी तिमाही का घाटा हुआ कम

यूको बैंक का तीसरी तिमाही का घाटा हुआ कम

घाटा कम हो कर 960.17 करोड़ रुपये पर आ गया है।

यूको बैंक का चालू वित्त वर्ष की दिसंबर, 2019 को समाप्त तीसरी तिमाही का शुद्ध घाटा कम होकर 960.17 करोड़ रुपये पर आ गया है। हालांकि बैंक अभी भी घाटे में ही चल रहा है। कोलकाता के बैंक को इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 998.74 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था।

वित्त वर्ष 2020 की तीसरी तिमाही में यूको बैंक की ब्याज आय 49.6% बढ़कर 1,236.6 करोड़ रुपये रही है जबकि वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में यूको बैंक की ब्याज आय 826.6 करोड़ रुपये रही थी। तिमाही दर तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में यूको बैंक का ग्रॉस एनपीए 21.9% के घटकर 19.5% पर रहा है। तिमाही आधार पर दूसरी तिमाही में यूको बैंक का नेट एनपीए 7.3% से घटकर 6.3% रहा है।

तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में यूको बैंक की प्रोविजनिंग 2,100 करोड़ रुपये से बढ़कर 2,171 करोड़ रुपये रही है जबकि पिछले साल की तीसरी तिमाही में यूको बैंक की प्रोविजनिंग 1,400 करोड़ रुपये रही थी।

यूको बैंक की ब्याज आय मे हुई वृधि

शेयर बाजारों को भेजी गई सूचि में बैंक ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी कुल आय बढ़कर 4,514.21 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 3,585.56 करोड़ रुपये थी। बैंक की सकल गैर निष्पादित आस्तियां (एनपीए) 19.45 प्रतिशत पर थीं। एक साल पहले समान अवधि में बैंक का सकल एनपीए 27.39 प्रतिशत था।

इसी तरह बैंक का शुद्ध एनपीए भी घटकर आधा यानी 6.34 प्रतिशत रह गया, जो एक साल पहले समान तिमाही में 12.48 प्रतिशत था। मूल्य के हिसाब से बैंक का सकल एनपीए घटकर 22,139.65 करोड़ रुपये रह गया, जो एक साल पहले समान तिमाही में 31,121.79 करोड़ रुपये था। इसी तरह बैंक का शुद्ध एनपीए घटकर 6,199.65 करोड़ रुपये रहा,

जो एक साल पहले समान तिमाही में 11,755.61 करोड़ रुपये रहा था। समीक्षाधीन तिमाही में बैंक का डूबे कर्ज के लिए प्रावधान घटकर 1,645.51 करोड़ रुपये रहा, जो एक साल पहले समान तिमाही में 2,243.85 करोड़ रुपये था।