Arthgyani
होम > न्यूज > राकेश झुनझुनवाला

राकेश झुनझुनवाला के इनसाइडर ट्रेडिंग की जाँच जारी – SEBI

देश के चुनिंदा अमीर निवेशकों में राकेश झुनझुनवाला का नाम शामिल हैं।

निवेशक राकेश झुनझुनवाला इनसाइडर ट्रेडिंग के कथित मामले में फँस गए हैं माना जाता है कि शेयर चुनने में राकेश झुनझुनवाला को कुशलता प्राप्त है और उनकी तुलना प्राय: वॉरेन बफे से की जाती है। देश के चुनिंदा अमीर निवेशकों में राकेश झुनझुनवाला का नाम शामिल हैं।

ऐप्टेक एजुकेशन का मामला 

ब्लूमबर्ग के अनुमान के अनुसार झुनझुनवाला और उनक परिवार के सदस्यों ने 2006 में ऐप्टेक के शेयर 56 रुपये पर खरीदे थे। वर्तमान में ऐप्टेक में उनके और उनके परिवार के सदस्यों का स्टेक बढ़कर 49 प्रतिशत तक हो गया है। सोमवार को ऐप्टेक का शेयर बीएसई पर 173 रुपये पर बंद हुआ। इस हिसाब से इन लोगों के स्टेक की मार्केट वैल्यू 690 करोड़ रुपये है। ऐप्टेक झुनझुनवाला के निवेश वाली एकमात्र कंपनी है, जिसमें उनका मैनेजमेंट कंट्रोल है। विदित हो कि उनके पोर्टफोलियो के शेयरों की वैल्यू करीब 11,140 करोड़ रुपये है।

क्या है इनसाइडर ट्रेडिंग

कंपनियों के प्रबंधन में शामिल लोगों के पास उससे जुड़ी अहम जानकारी होती है और अगर उस जानकारी के सार्वजनिक होने से पहले उसके आधार पर वे शेयरों में खरीद-फरोख्त से जुड़ा कोई कदम उठाएं, जिससे प्राइस पर असर पड़े तो इसे मोटे तौर पर इनसाइडर ट्रेडिंग कहा जाता है।

जाँच प्रक्रिया जारी

इस मामले की जानकारी रखनेवाले  दो लोगों ने बताया कि सिक्यॉरिटीज ऐंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (सेबी) यह जांच ऐप्टेक लिमिटेड के शेयरों से जुड़े मामले में कर रहा है।

झुनझुनवाला की पत्नी रेखा, भाई राजेश कुमार, सास सुशीला देवी गुप्ता से भी सेबी ने 24 जनवरी को पूछताछ की है। झुनझुनवाला सेबी के जांच अधिकारी के सामने पेश हुए थे और उनसे मुंबई के बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स स्थित सेबी के मुख्यालय में करीब दो घंटे तक पूछताछ की गई थी। अपने वकीलों के साथ पहुंचे झुनझुनवाला ने जांच अधिकारी से कहा था कि वह अपने परिवार का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं।

झुनझुनवाला की बहन सुधा गुप्ता को सेबी ने पूछताछ के लिए 23 जनवरी को बुलाया था। झुनझुनवाला की ऐसेट मैनेजमेंट फर्म रेयर एंटरप्राइजेज के सीईओ उत्पल सेठ की बहन और ऐप्टेक में डायरेक्टर ऊष्मा सेठ सुले को 28 जनवरी को बुलाया गया है।

जांच में सहयोग करें

हालाँकि इसकी अभी पुष्टि नहीं हो पाई है कि किस अवधि में इनसाइडर ट्रेडिंग के नियमों का कथित तौर पर उल्लंघन हुआ था। सेबी ने झुनझुनवाला और दूसरों को दिए गए नोटिस में उनसे कहा है कि इनसाइडर ट्रेडिंग की संदिग्ध गतिविधि की ‘जांच में सहयोग करें।’ज्ञात हो कि इन्वेस्टर रमेश एस दमानी और कंपनी में डायरेक्टर मधु जयाकुमार सहित कुछ बोर्ड मेंबर्स के रोल की भी जांच हो रही है।