Arthgyani
होम > बाजार > रीयल एस्टेट

रीयल एस्टेट की परियोजनाओं में 45 फीसदी गिरावट दर्ज

नई परियोजनाओं की पेशकश में नौ शहरों में 45 फीसदी गिरावट दर्ज हुई

भारत के महानगरों मुंबई, कोलकाता, अहमदाबाद, चेन्नई, पुणे, नोएडा, बेंगलुरू, हैदराबाद जैसे शहर आवासीय बिक्री परियोंजनाओं की गिरावट दर्ज में शामिल है| नई परियोजनाओं की पेशकश में नौ शहरों में 45 फीसदी गिरावट दर्ज हुई है| चालू वर्ष 2019 में 33,883 जितने  नए आवासीय इकाइयों की घोषणा हुई| गणना के आधार पर इसकी समीक्षावधि में 65,799 आवासीय इकाइयों की बिक्री हुई है। पिछले साल बिक्री संख्या 88,078 थी। जबकि वित्त वर्ष 2018 में इसी अवधि में इसकी संख्या 61,679 थी।

रीयल एस्टेट ब्रोकिंग कंपनी प्रॉप टाइगर की रिपोर्ट के मुताबिक, ग्राहक की धारणा और मांग में क मी रहने की वजह से नौ शहरों के आवास बिक्री में गिरावट देखने को मिली। नई परियोजनाओं की पेशकश में भी 45 फीसदी गिरावट दर्ज आई| अक्टूबर महीने की शुरुआत सात प्रमुख शहरों में जुलाई-सितंबर अवधि में आवास बिक्री में क्रमश: 18 फीसदी गिरावट दर्ज हुई।

बता दें, जुलाई-सितंबर की समयावधि आवास बिक्री में 25 फीसदी की गिरावट के साथ 65,799 यूनिट रही। एलारा टेक्नोलॉजी समूह के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ध्रुव अग्रवाल के मुताबिक, सरकार ने गैर-बैंकिग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) की समस्या का समाधान करना शुरू किया है, लेकिन इसके बाद भी सितंबर में समाप्त तिमाही में नई आवासीय इकाइयों की पेशकश में गिरावट नहीं थमी।

विदित हो, एनबीएफसी भारत में रीयल एस्टेट को फाइनेंस करता है और यह इसका प्रमुख स्रोत है। इसके अलावा त्योहारी सीजन की वजह से ग्राहक पैसों को कहीं निवेश नहीं कर रहें है| जिसकी वजह से तिमाही के दौरान आवास बिक्री में गिरावट रही है।