Arthgyani
होम > न्यूज > वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल (WGC) ने बताया, कैसा रहेगा सोने का भाव इस साल

वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल (WGC) ने बताया, कैसा रहेगा सोने का भाव इस साल

WGC की नई रिपोर्ट में बताया गया हैं कि ग्लोबल आर्थिक सुस्ती की वजह से लोगों का रुझान सोने में सेफ इन्वेस्टमेंट के तौर पर बढ़ा है

अभी हाल के दिनों में सोने में निवेश के चलन में एकाएक वृद्धि हुई है| इसके पीछे वैश्विक स्तर पर आई सुस्ती कारण है, जिससे भयभीत होकर निवेशक शेयर बाज़ार से दुरी बना कर सोने जैसे सेफ निवेश में इन्वेस्टमेंट करने लगे हैं| मगर यह बढ़त तात्कालिक है! वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल (WGC) के रिपोर्ट के अनुसार एशिया की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के लोग अब सोने के गहनों से दूरी बनाने लगे हैं|

भारत और चीन में आभूषणों की मांग में भारी गिरावट

WGC की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक साल 2019 की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में कुल सोने की डिमांड 1 फीसदी कम हुई है| इस मांग के घटने का सबसे बड़ा कारण भारत और चीन में आभूषणों की मांग में भारी गिरावट है| वहीं सोने की बढ़ती कीमतों और आर्थिक सुस्ती ने भी सोने की डिमांड पर निगेटिव असर किया है|

वहीं अगर भारतीय संदर्भ में बात करें तो भारत में सोने की मांग 2019 में नौ फीसदी घटकर 690.4 टन रह गई है| वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल (WGC) ने आज गुरुवार को कहा कि घरेलू स्तर पर सोने के दाम के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचने और आर्थिक सुस्ती की वजह से सोने की खुदरा खरीद में पिछले साल की तुलना में कमी आई है|

2020 में भारत में सोने की मांग में बढ़ोत्तरी संभव 

काउंसिल ने उम्मीद जताई है कि 2020 में भारत में सोने की मांग में 700-800 टन की बढ़ोत्तरी हो सकती है| विश्लेषकों का मानना है कि लोग नये साल में ऊंची कीमतों को स्वीकार करेंगे और आर्थिक सुधारों से उपभोक्ताओं का विश्वास मजबूत होगा| ज्ञात हो कि दुनियाभर में चीन के बाद भारत सोने का सबसे बड़ा कंज्यूमर है|

WGC ने अपनी हालिया रिपोर्ट में कहा है कि घरेलू स्तर पर सोने की कीमत 2019 में 39,000 प्रति दस ग्राम के स्तर पर पहुंच गई| इस रिपोर्ट के मुताबिक 2018 के आखिर में सोने के भाव की तुलना में 2019 के आखिर में Gold करीब 24 फीसद महंगा हो गया|

जानकारी के लिए बताते चलें कि इस बार के धनतेरस में भी पिछले साल के मुकाबले कम सोने की खपत हुई थी| अब यह लोगों के रूचि में परिवर्तन के कारण हुआ या लोगों के क्रय शक्ति में कमी की वजह से, यह अनुसंधान का विषय है|