Arthgyani
होम > न्यूज > कंपनी ग्रेट वॉल

विदेशी कार कम्पनियाँ भारत में निवेश को लेकर उत्साहित

रिटर्न के आंकड़े पॉजिटिव संकेत दे रहे हैं

इन दिनों विदेशी कार कम्पनियाँ भारत में निवेश को लेकर अति उत्साहित नज़र आ रही है। एक ओर जहाँ आर्थिक सुस्ती के चलते देशी कार मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों का हाल निवेश से परहेज़ करने पर आमादा है वहीँ दूसरी ओर विदेशी कार मैन्युफैक्चरिंग प्लांट आर्थिक सुस्ती के बीच भारत में जोरदार निवेश किये जा रही है।

मौजूदा समय में कार एमजी मोटर्स, किआ जैसे कंपनियां कार की डिमांड को पूरा नहीं कर पा रही हैं, फलतः  यह विदेशी कंपनियां नए मैन्युफैक्चरिंग प्लांट खोलने पर विचार बना रही हैं।

ग्रेट वॉल और पीएसए समूह का आगमन

साल 2020 में फ्रांस कार मैन्युफैक्चरिंग समूह PSA भारत में अपने कदम रखने जा रही है। PSA समूह इस साल अपनी कार C5 एयर क्रॉस एसयूवी लॉन्च करने जा रहा है। चीन की कार निर्माता कंपनी ग्रेट वॉल भी इस साल भारत में निवेश करने का फैसला किया है। महाराष्ट्र और तेलंगाना स्थित जनरल मोटर्स के प्लांट को खरीदने के लिए ग्रेट वॉल की बातचीत चल रही है। विदित हो कि पहले से ही एमजी मोटर्स की हेक्टर कार की भारत में जोरदार डिमांड दिखाई दे रही है। इसके चलते कंपनी भारत में दूसरा मैन्यूफैक्चरिंग प्लांट खोलने पर विचार कर रही है। एमजी मोटर्स इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर राजीव चाबा ने कहा कि प्लांट को इस साल के अंत तक शुरू किया जा सकता है। एमजी मोटर्स ने साल 2021 तक भारत में करीब 5000 करोड़ रुपए के निवेश का ऐलान किया था।  ज्ञात हो कि भारत में कंपनी की पहली कार  हेक्टर ने अब तक करीब 30 हजार हेक्टर कार बेची है जो बिक्री जून 2019 में शुरू हुई थी।  अगले माह  कंपनी इलेक्ट्रिक एसयूवी जेडएस पेश करने जा रही है साथ ही  2021 तक कंपनी दो अन्य कार लॉन्च करेगी।

80 हजार यूनिट का लक्ष्य

गुजरात स्थित जनरल मोटर्स फैक्ट्री के अधिग्रहण के बाद कंपनी को उम्मीद है कि सालाना कार मैन्युफैक्चरिंग क्षमता 80 हजार यूनिट हो जाएगी।  गुजरात का हलोल स्थिक प्लांट अगले दो साल में पूरी क्षमता के साथ काम करना शुरू कर देगा। एमजी मोटर्स ने पिछले तीन माह में एक औसतन हर एक माह 3000 यूनिट कार की बिक्री की। ख़बरों और विशेषज्ञों की राय के अनुसार  अगर एक अप्रैल 2020 को नए उत्सर्जन मानक लागू होने के बाद भी कार की बिक्री में यूँही जारी रहती है तो कंपनी कार के प्रोडक्शन बढ़कर 4000 यूनिट प्रतिमाह हो जाएगी। विदित हो कि कंपनी ने भारत से हेक्टर का निर्यात भी शुरू करने की बात कही है।