Arthgyani
होम > न्यूज > टैरिफ़ प्लान

वोडाफ़ोन-आइडिया के बाद अब एयरटेल भी टैरिफ़ प्लान बढ़ाने की राह पर

वोडाफोन-आइडिया और एयरटेल 1 दिसंबर से मोबाइल टैरिफ़ में बढ़ोतरी करेंगी।

वोडाफ़ोन और आईडिया ने अपने टैरिफ़ बढ़ाने की घोषणा पहले ही कर दी है। अब एयरटेल ने भी फ़ैसला लिया है अपने टैरिफ़ प्लान में बदलाव करेगी। वोडाफोन-आइडिया और एयरटेल 1 दिसंबर से मोबाइल टैरिफ़ में बढ़ोतरी करेंगी।

सोमवार को वोडाफोन-आइडिया ने अपने टैरिफ़ बढ़ाने को लेकर कहा था कि “उपभोक्ताओं को विश्वस्तरीय डिज़िटल अनुभव प्रदान करने के लिए वोडाफोन-आइडिया अपने टैरिफ़ में उचित बढ़ोतरी करेगा। यह बदलाव 1 दिसंबर से लागू होगा।” वहीं अब एयरटेल ने भी अपने बयान में कहा है कि ग्राहकों को किफ़ायती टैरिफ़ उपलब्ध कराना उसकी प्राथमिकता है, लेकिन वित्तीय ज़रूरतों के साथ संतुलन भी ज़रूरी है, ताकि डिज़िटल इंफ़्रास्ट्रक्चर में निवेश जारी रखा जा सके। इस तरह उपभोक्ताओं को बेहतर गुणवत्ता की सेवा मिल सकेगी।

एक नज़र

  • वोडाफोन-आइडिया और एयरटेल 1 दिसंबर से मोबाइल टैरिफ़ में बढ़ोतरी करेंगी।
  • एयरटेल ने कहा वित्तीय ज़रूरतों के साथ संतुलन भी ज़रूरी।
  • मोबाइल सेवा प्रदान करने वाली कंपनियों का दावा, पूरी दुनिया में भारत में मोबाइल डाटा सबसे सस्ता।
  • वोडाफोन आईडिया का देश में सबसे बड़ा स्पेक्ट्रम एरिया।
  • उपभोक्ताओं को विश्वस्तरीय डिज़िटल अनुभव प्रदान करने की कम्पनियों की कोशिश।

वोडाफोन-आइडिया ने सोमवार को एक बयान में कहा, ‘टेलिकॉम सेक्टर में बहुत ज़्यादा वित्तीय परेशानी की बात सभी संबंधित पक्षों ने स्वीकार की है। कैबिनेट सेक्रटरी की अध्यक्षता वाली सचिवों की समिति उचित राहत देने पर विचार कर रही है।’ वहीं एयरटेल ने कहा कि वह ग्राहकों को किफ़ायती दर पर सर्विस उपलब्ध करवाती रहेगी, लेकिन उसे कारोबार जारी रखने और डिज़िटल इंफ्रास्ट्रक्चर में ज़रूरी निवेश करते रहने पर भी ध्यान देना है।
भारत में मोबाइल सेवा प्रदान करने वाली कंपनियों का दावा है कि पूरी दुनिया में भारत में मोबाइल डाटा सबसे सस्ता है और बाज़ार में इसकी मांग लगातार बनी हुई है। वोडाफोन आईडिया अभी बगैर डाटा एक महीने के लिए मोबाइल सर्विस 24 रुपए में प्रदान करती है, वहीं डाटा के साथ इसके लिए न्यूनतम 33 रुपए चुकाने होते हैं। कंपनी ने कहा कि मार्च 2020 तक देश भर में 4G  सेवा उपलब्ध कराने के लिए नेटवर्क कवरेज़ और क्षमता बढ़ाई जा रही है। कंपनी का यह भी कहना है कि उसके पास देश में सबसे बड़ा स्पेक्ट्रम एरिया मौजूद है और नेटवर्क एकीकरण के जरिए पूरे संसाधनों का इस्तेमाल किया जा रहा है।