Arthgyani
होम > Book Building – बुक बिल्डिंग

Book Building – बुक बिल्डिंग

« Back to Glossary Index

एक पुस्तक निर्माण प्रस्ताव में, सिंडिकेट सदस्य मूल्य सीमा तय करते हैं और लोग निविदा पद्धति के आधार पर मुद्दे किकीमत तय करते हैं।

बुक बिल्डिंग करने के लियेया कुछ विशेश सूत्र दिए गए है:

• जो कम्पनी उसे जारी कर रही है उसे उससे मर्चेंट बैंकर को (बुक रनर लीड मैनेजर बनाना होता है) जो की अनिवार्य है |
• जो भी लीडर मैनेजर होता है वो प्रॉस्पेक्टस बनाता है, जिसके अंदर प्रोजेक्ट की लागत होती है, जिसके अंदर कम्पनी की सारी जानकारी होती है |
• उसके बाद उस प्रॉस्पेक्टस को SEBI को दिया जाता है |

100 परसेंट बुक बिल्डिंग वो चीज़ है जिसमे 100 % प्रतिभूति दी जाती है जिसे प्रमोटर्स के लिए बचा के रखा जाता है | इससे शेयर होल्डर्स को भी दिया जाता है |

« Back to Glossary Index