Arthgyani
होम > Redemption Fee – रिडेम्पशन फीस

Redemption Fee – रिडेम्पशन फीस

« Back to Glossary Index

जब निवेशक कम्पनी में निवेश करते है तब उनके सामने खुच स्कीम राखी जाती है जिसमे उनका लॉक इन पीरियड होता है जिसका मतलब निवेशक उतने समय तक न पैसे डाल सकता है न निकाल सकता है| यह कम्पनीय इसी लिये करती है ताकि निवेशक उनके साथ लम्बे समय के लिये बना रहे और अगर उसे कहीं भी उनसे अच्छी स्कीम मिल रही हो तो वह उन्हें छोड़ कर ना जा पाए और अगर वह ऐसा करते है तब उन्हें रिडेम्पशन फीस देनी पढ़ती है|

रिडेम्पशन फीस को एग्जिट लोड भी कहा जाता है जो म्यूच्यूअल फंड्स को रिडीम करते वक़्त ली जाती है यह फीस NAV के परसेन्टेज पर ली जाती है|

म्यूचुयल फंड्स न्यूज

लेटेस्ट फाइनेंस न्यूज़ हिन्दी

इस फीस को कई और नाम से भी जाना जाता है जैसे कि एग्जिट फीस,मार्किट टाइमिंग फीस,शार्ट टर्म ट्रेडिंग फीस|

« Back to Glossary Index