Arthgyani
होम > न्यूज > शेयर बाजार ने बनाया कीर्तिमान, मुकेश अंबानी बने सरताज

शेयर बाजार ने बनाया कीर्तिमान, मुकेश अंबानी बने सरताज

आज सेंसेक्स ने बनाया रिकॉर्ड, 41,130.17 पर हुआ बंद

शेयर बाजार गुरुवार को एक बार फिर रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ| सेंसेक्स 109.56 अंक उछलकर रिकॉर्ड 41,130.17 अंक पर बंद हुआ| वहीं, निफ्टी भी 53.60 अंकों की तेजी के साथ रिकॉर्ड 12,154.30 अंक पर बंद हुआ|

शेयर बाजार में रिकॉर्ड बनने का सिलसिला गुरुवार को भी बरकरार रहा| बैंकिंग तथा आईटी कंपनियों के शेयरों में जबर्दस्त लिवाली से BSE के 30 कंपनियों के शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 109.56 अंक (0.27%) उछलकर रिकॉर्ड 41,130.17 पर बंद हुआ| वहीं, एनएसई (NSE) का निफ्टी 53.60 अंकों (0.44%) की तेजी के साथ रिकॉर्ड 12,154.30 पर बंद हुआ|

NSE और BSE दोनों स्थानों पर बना रिकॉर्ड 

दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने रिकॉर्ड 41,163.79 का ऊपरी स्तर तथा 40,996.08 का निचला स्तर छुआ| वहीं, निफ्टी ने भी रिकॉर्ड 12,158.80 का उच्च स्तर तथा 12,099.95 का निम्न स्तर छुआ| BSE पर 17 कंपनियों के शेयर हरे निशान पर तो 13 कंपनियों के शेयर लाल निशान पर बंद हुए, जबकि NSE पर 33 कंपनियों के शेयरों में लिवाली, 16 कंपनियों के शेयरों में बिकवाली तथा एक कंपनी के शेयर में कारोबार नहीं हुआ|

मजबूत वैश्विक संकेतों का फायदा घरेलू शेयर बाजार में हर शेयर को नहीं मिल सका| BSE पर गेनर्स तथा लूजर्स की संख्या आज लगभग बराबर देखने को मिली| BSE मिडकैप तथा BSE स्मॉलकैप सूचकांक बेंचमार्क के प्रदर्शन को पार कर गया, क्योंकि दोनों में क्रमशः 0.97 फीसदी तथा 0.45 फीसदी की मजबूती दर्ज की गई|

BSE ऑटो इंडेक्स को छोड़कर बाकी तमाम सेक्टोरल इंडिसेज चढ़कर बंद हुआ| BSE टेलिकॉम इंडेक्स और BSE मेटल इंडेक्स में आज सबसे ज्यादा तेजी देखी गई| इनमें क्रमशः 3.49 फीसदी तथा 2.15 फीसदी की मजबूती दर्ज की गई|

रिलायंस इंडस्ट्री (RIL) बनी 10 लाख करोड़ की पूंजी वाली पहली देसी कंपनी

एनर्जी से लेकर टेलिकॉम का कारोबार करने वाली कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) 10 लाख करोड़ रूपए के बाजार पूंजीकरण वाली पहली भारतीय कंपनी बन गई| इसका शेयर 0.65 फीसदी चढ़कर 1,579.95 रूपए पर बंद हुआ| दिनभर के कारोबार में इसने 1,584 रुपये के उच्च स्तर को छुआ|

अगस्त 2018 में बनी थी 8 लाख करोड़ की कंपनी

लगभग एक साल पहले ही अगस्त 2018 में RIL देश की पहली कंपनी बनी थी जब इसकी मार्केट वैल्यू 8 लाख करोड़ रूपए को पार की थी| 12 साल पहले 2007 में RIL देश की पहली कंपनी बनी थी, जिसने 100 अरब डॉलर (7 लाख करोड़ रूपए) के आंकड़े को पार किया था|

विश्लेषकों का राय

NBT से बात करते हुए जियोजित फाइनैंशल सर्विसेज के रिसर्च हेड विनोद नायर ने कहा, ‘F&O एक्सपायरी के कारण पैदा होने वाली अस्थिरता तथा शुक्रवार को दूसरी तिमाही के GDP आंकड़ों की घोषणा के बावजूद शेयर बाजार में निवेशकों के बीच सकारात्मक रुझान देखा गया, क्योंकि उन्हें उम्मीद थी कि हर तरह की अस्थिरता में ग्लोबल लिक्विडिटी में बढ़ोतरी से मदद मिलेगी| कच्चे तेल की कीमतों में अस्थिरता तथा यील्ड में गिरावट से संकेत मिलता है कि RBI उदार रवैया अपनाना जारी रखेगा, जबतक कि अर्थव्यवस्था सुधार पथ पर अग्रसर नहीं हो जाती|’

FPI का निवेश जारी

विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (FPI) का भरोसा भारतीय बाजार पर बरकरार है| तभी उन्होंने गुरुवार को भी बाजार में भारी-भरकम निवेश किया|

स्टॉक में तेजी की और संभावना

बाजार के जानकारों का कहना है कि आने वाले दिनों में इसका स्टॉक और तेजी से बढ़ेगा| हाल ही में टेलिकॉम कंपनियों द्वारा टैरिफ बढ़ाने के फैसले के बाद जियो को भी राहत मिली है| इसकी वजह से भी कंपनी को फायदा पहुंचा है| अब सप्ताहांत में कल कैसा रुख रहता है यह देखना दिलचस्प होगा|