Arthgyani
होम > न्यूज > शेयर बाज़ार ने गिरावट के साथ किया 2019 को अलविदा

शेयर बाज़ार ने गिरावट के साथ किया 2019 को अलविदा

सेंसेक्स 304.26 अंक गिरकर 41,253.74 अंक पर आ गया

साल के आखिरी दिन शेयर बाज़ार के दोनों प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स और निफ्टी भारी नुकसान के साथ लाल निशान पर बंद हुए| BSE का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 0.73 प्रतिशत और 304 अंकों की गिरावट के बाद 41253.74 के स्तर पर क्लोज हुआ| वहीं NSE का प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 0.71 प्रतिशत और 87 अंकों की गिरावट के बाद 12168.45 के स्तर पर बंद हुआ| इसके अलावा बैंक निफ्टी (Bank nifty) भी 193 अंक गिरकर 32,161 के स्तर पर आ गया| विश्लेषकों ने इस गिरावट के कारणों के बारे में कहा कि किसी बड़े आर्थिक कारक के अभाव और शेयर विशेष में बिकवाली के रुख से बाजार में यह गिरावट दर्ज हुई|

टेक महिंद्रा के शेयरों में आई सबसे ज्यादा 2.51% की गिरावट

साल 2019 के आखिरी दिन सेंसेक्स 304 अंकों के गिरावट में रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL), HDFC, ICICI बैंक और TCS जैसी बड़ी कंपनियों के शेयरों में गिरावट का बहुत बड़ा हाथ रहा| सेंसेक्स की कंपनियों में टेक महिंद्रा में सबसे ज्यादा 2.51 प्रतिशत की गिरावट आई| बजाज ऑटो, हीरो मोटोकॉर्प, इंडसइंड बैंक और महिंद्रा एंड महिंद्रा (M&M) के शेयरों में भी आज बिकवाली का रुख रहा|

दूसरी तरफ NTPC, सन फार्मा, ONGC, पावरग्रिड और अल्ट्राटेक सीमेंट के शेयरों में तेजी रही| अगर वैश्विक बाजार की बात करें तो शंघाई 0.33 प्रतिशत बढ़कर जबकि हांगकांग 0.46 प्रतिशत गिरकर बंद हुआ| टोक्यों और सोल में छुट्टी की वजह से आज बाजार बंद रहा|

सेक्टोरियल इंडेक्स में हुआ मिलाजुला कारोबार

आज सेक्टोरियल इंडेक्स में मिलाजुला कारोबार रहा है| आज BSE मेटल और PSU सेक्टर हरे निशान पर बंद हुए| इसके अलावे BSE ऑटो, कैपिटल गुड्स, कंज्यूमर ड्यूरेबिल्स, BSE FMCG, BSE हेल्थकेयर, BSE IT, BSE टेक सेक्टर लाल निशान पर बंद हुए|

CNX मिडकैप इंडेक्स हरे निशान पर हुआ क्लोज

BSE स्मॉलकैप, CNX मिडकैप इंडेक्स हरे निशान पर क्लोज हुए| BSE स्मॉलकैप इंडेक्स 50.62 अंक बढ़कर 13699 के स्तर पर बंद हुआ| वहीं CNX मिडकैप इंडेक्स 23.70 अंक बढ़कर 17102.50 के स्तर पर क्लोज हुए| इसके अलावा BSE मिडकैप इंडेक्स 4.44 अंक गिरकर 14967.83 के स्तर पर बंद हुआ|

ज्ञात हो कि आज साल के अंतिम दिन की शुरुआत ही शेयर बाज़ार ने भारी गिरावट के साथ की| दोपहर में शेयर बाज़ार ने थोडा संभलने का प्रयास किया, मगर क्लोजिंग टाइम होते-होते बिकवाली ने जोड़ पकड़ा और अंततः शेयर बाज़ार के दोनों सूचकांक भारी गिरावट के साथ साल का अंत किया| मगर यह साल शेयर बाज़ार बहुत उपलब्धियों से परिपूर्ण रहा| सेंसेक्स ने जहा खुद को 36 हज़ार के अंक तालिका से उठा कर अपने आप को 41 हज़ार से उपर पहुंचा दिया, वहीं कई भारतीय कंपनियों ने अपने मार्केट कैपिटल में भारी वृद्धि दर्ज करते हुए अपनी जगह बनाई| इस मामले में RIL सबसे अग्रणी रही तो TCS और HDFC ने भी अच्छी बढ़त दर्ज की| उम्मीद है कि नए साल में जब शेयर बाज़ार शुरुआत करेगा तो 2019 के भांति नए कीर्तिमान बनाएगा|